दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

घर को बनाया चकलाघर, देह व्यापार की शिकायत पर प्रयागराज पुलिस ने मारा छापा, दो महिलाओं समेत चार गिरफ्तार

एक मकान में छापा मारकर देह व्यापार का भंडाफोड़ किया।

पुलिस को शिकायत मिली थी कि मकान में महिलाएं पुरुष आते जाते रहते हैं। इस बारे में अधिकारियों को बताया गया। मकान पर नजर रखी जाने लगी। सोमवार दोपहर सटीक सूचना के आधार पर पुलिस ने छापा मारकर कई दिनों से चल रहे देह व्यापार के धंधे का भंडाफोड़ किया

Ankur TripathiMon, 17 May 2021 07:41 PM (IST)

प्रयागराज, जेएनएन। कोरोना काल में मुश्किल भरे दौर के बीच तमाम आपराधिक गतिविधियां भी चल रही हैं। इसी बीच प्रयागराज पुलिस ने नैनी इलाके में सरपतहिया रोड पर स्थित एक मकान में छापा मारकर देह व्यापार का भंडाफोड़ किया। पुलिस ने वहां दो महिलाओं समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया है। 

पहले रखी पुलिस ने नजर फिर की छापेमारी 

नैनी पुलिस को शिकायत मिली थी कि आरके पुरम कॉलोनी के एक मकान में महिलाएं पुरुष आते जाते रहते हैं। इस बारे में अधिकारियों को बताया गया। फिर उस मकान पर नजर रखी जाने लगी। सोमवार दोपहर सटीक सूचना के आधार पर पुलिस ने छापा मारकर कई दिनों से चल रहे देह व्यापार के धंधे का भंडाफोड़ किया। मकान के कमरों से दो युवक और दो युवतियां आपत्तिजनक हालात में पकड़ी गई। कमरों की तलाशी में पुलिस को चार हजार रुपये से ज्यादा नकदी, शराब की बोतलें, सिगरेट के पैकेट और कई आपत्तिजनक वस्तुएं भी मिलीं। पकड़े गए लोगों को थाने ले जााया गया। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार पुरुषों में करछना के कैथी गांव का विपिन कुमार पटेल और करछना थाना के महोरी रीवा गांव निवासी सुरेंद्र कुमार पटेल है। दोनों महिलाएं जौनपुर जिले की रहने वाली हैं। पुलिस की छापेमारी होने पर वहां भीड़ लग गई। पुलिस ने सबको हटााया। पुलिस ने बताया कि  गिरफ्तार महिलाएं गैंगरेप का केस लिखाकर लोगों को ब्लैकमेल कर धन उगाही भी करती रही हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.