Pratapgarh Road Accident: अनियंत्रित कार की टक्कर से बाइक सवार युवक की मौत, एक जख्‍मी

Pratapgarh Road Accident बाघराय निवासी मोहनलाल सरोज टेंपो चालक था। सोमवार की रात वह गांव के किशन के साथ बिहार बाजार में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए बाइक से जा रहा था। अनियंत्रित बाइक की टक्‍कर से उसकी मौत हो गई जबकि किशन जख्‍मी हो गया।

Brijesh SrivastavaTue, 30 Nov 2021 09:59 AM (IST)
प्रतापगढ़ के बाघराय में सड़क हादसे में युवक की मौत के बाद जुटी लोगों की भीड़।

प्रयागराज, जेएनएन। प्रतापगढ़ जनपद के बाघराय थाना क्षेत्र में सड़क हादसे में एक युवक की मौत हो गई। बूढे़ पुर गांव के निकट सोमवार की रात में अनियंत्रित कार ने बाइक में टक्‍कर मारी। हादसे में बरात में शामिल होने जा रहे बाइक पर सवार दो युवक गंभीर रूप से जख्‍मी हो गए। राहगीरों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को इलाज के लिए अस्‍पताल में भर्ती कराया। गंभीर हाल में बाइक सवार को प्रयागराज के एसआरएन अस्‍पताल ले जाया गया। इलाज के दौरान मंगलवार की सुबह उसकी मौत हो गई। दूसरे युवक का इलाज चल रहा है।

बाघराय थाना क्षेत्र में हुआ हादसा

बाघराय थाना क्षेत्र के बाग का पुरवा पवासी गांव निवासी मोहनलाल सरोज 27 पुत्र सुखनंदन टेंपो चालक था। सोमवार की रात करीब नौ बजे वह गांव के किशन 28 पुत्र किशोरी के साथ बिहार बाजार में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए अपाचे बाइक से जा रहा था। बाघराय थाना क्षेत्र के बूढे़पुर के पास लालगोपालगंज की तरफ से आ रही अनियंत्रित कार ने बाइक में जोरदार टक्कर मार दी। इससे मोहनलाल की बाइक सड़क के किनारे गड्ढे में जा गिरी और कार भी अनियंत्रित होकर पलट गई।

कार सवार लोग भाग निकले

मौका पाकर कार सवार लोग भाग गए। उधर हादसे के बाद राहगीरों के साथ आसपास के ग्रामीण जुट गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने लोगों की मदद से दोनों घायलों को इलाज के लिए सीएचसी बाघराय में भर्ती कराया। वहां पर मोहनलाल की हालत खराब होने पर उसे जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया गया। वहां से भी चिकित्सकों ने उसे प्रयागराज के एसआरएन अस्‍पताल रेफर कर दिया।

मोहनलाल की मौत से स्‍वजन बेहाल

एसआरएन अस्‍पताल में इलाज के दौरान मंगलवार की भोर में मोहनलाल सरोज की सांसें थम गई। उसकी मौत की खबर सुनकर स्वजन बिलखने लगे। पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम भेज दिया। मृतक मोहनलाल तीन भाइयों में सबसे छोटा था। पत्नी निशा का रो-रोकर हाल बेहाल है। मोहनलाल की दो वर्षीय बेटी मोहिनी है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.