प्रयागराज में बीडीओ व पूर्व प्रधान के पुत्र की वजह से प्रधानपति की गई जान, यही लगा है आरोप

प्रयागराज के मांडा में बीडियो कार्यालय में विवाद के दौरान प्रधानपति की हालत बिगड़ी। इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हो गई। प्रधानपति के स्‍वजनों ने पूर्व प्रधान के बेटे और खंड विकास अधिकारी पर मौत का कारण बनने का आरोप लगाया है।

Brijesh SrivastavaFri, 03 Dec 2021 11:01 AM (IST)
प्रयागराज के मांडा क्षेत्र के कनेवरा के प्रधानपति की मौत पर बीडीओ व पूर्व प्रधान के पुत्र पर आरोप है।

प्रयागराज, जेएनएन। प्रयागराज जनपद के मांडा क्षेत्र के कनेवरा के प्रधानपति की मौत हो गई। मौत का कारण बने मांडा के बीडीओ और गांव के पूर्व प्रधान के पुत्र। जी हां, आरोप तो यही है। मामला था कनेहरा ग्राम पंचायत में कराए गए पुराने कार्य के भुगतान के संबंध में। इस संबंध में मृतक प्रधानपति के परिवार के लोगों ने बीडीओ और पूर्व प्रधान के पुत्र ने थाने में तहरीर दी है। मामले की जांच की जा रही है।

मांडा के कनेवरा गांव का मामला

पूर्व प्रधान लाल बिहारी मिश्रा के लड़के विजय मिश्रा ने खंड विकास अधिकारी मांडा से मौजूदा प्रधान के विरुद्ध शिकायत कर आरोपित किया था कि मौजूदा प्रधान उनके द्वारा कराए गए कार्यों का भुगतान नहीं कर रहे हैं। खंड विकास अधिकारी ने अपने कार्यालय में ग्राम प्रधान कलावती मिश्रा के पति रंगनाथ मिश्रा और विजय मिश्रा को को गुरुवार की दोपहर तलब किया था।

कार्यों के भुगतान के दबाव बनाने का आरोप

आरोप है कि वार्ता के दौरान खंड विकास अधिकारी ने पहले कराए गए कार्यों का भुगतान करने के लिए दबाव बनाया। भुगतान न करने पर खाता सीज करने की धमकी दी। विजय मिश्रा ने रंगनाथ मिश्रा को खंड विकास अधिकारी के समक्ष गाली देने लगे और धक्का मार कर गिरा दिया। इसी दौरान रंगनाथ मिश्रा की तबीयत अधिक बिगड़ गई। सूचना पाकर मांडा थाने के एसएसआई रामकेवल यादव भी मौके पर पहुंच गए। गंभीर हालत में उन्हें मांडा सीएचसी इलाज के लिए ले जाया गया जहां प्राथमिक उपचार के बाद हालत नाजुक होने पर डाक्टरों ने शहर के लिए रेफर कर दिया। शहर के अस्पताल में इलाज के दौरान रंगनाथ मिश्रा की मौत हो गई घटना की जानकारी होने पर परिजनों में कोहराम मच गया।

बीडीओ के चेंबर में जान से मारने की धमकी का भी आरोप

मृतक के भाई शेषनाथ मिश्रा ने मांडा थाने में तहरीर देकर घटना के लिए पूर्व प्रधान के लड़के विजय प्रकाश मिश्रा उर्फ राकेश और खंड विकास अधिकारी को आरोपी बताया है। आरोप लगाया कि इन लोगों के कारण ही ही रंगनाथ मिश्रा की मौत हुई है। आरोप के अनुसार खंड विकास अधिकारी ने अपने चेंबर में बुलाकर रंगनाथ मिश्रा से 5 लाख रुपये का भुगतान करने का दबाव बनाया। रंगनाथ मिश्रा के इनकार करने और यह कहने पर जब तक कार्यों की जांच नहीं हो जाती तब तक वह भुगतान के पक्ष में नहीं है। खंड विकास अधिकारी ने खाता सीज करने की धमकी दी। इस बात को लेकर वहां पहले से मौजूद विजय प्रकाश ने गालियां देते हुए जान से मारने की धमकी दी और रंगनाथ को धक्का मारा जिससे वह गिर कर बेहोश हो गए।

पूर्व ग्राम प्रधान की धमकी पर थाने में शिकायती पत्र दिया था

आरोप है कि इसके पहले भी आरोपी विजय प्रकाश 5 लाख रुपये का फर्जी भुगतान कराने के लिए रंगनाथ मिश्रा पर दबाव डालता था। इनकार करने पर जान से मारने की धमकी देता था। इस संबंध में रंगनााथ मिश्रा द्वारा मांडा थाने में 27 अक्टूबर 2021 को शिकायती पत्र दिया गया था।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.