Student Council Poll : सीएमपी में कक्षा प्रतिनिधि पद पर करन विजयी, पदाधिकारी पद पर मतदान शुरू Prayagraj News

प्रयागराज, जेएनएन। सीएमपी डिग्री कॉलेज में एमए द्वितीय वर्ष के कक्षा प्रतिनिधि (पुरुष) पद के लिए चुनाव हुआ। इसमें करन सिंह परिहार निर्वाचित घोषित किए गए। वहीं छात्र परिषद के पदाधिकारियों अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, महामंत्री, संयुक्त मंत्री और सांस्कृतिक सचिव पद के लिए मतदान मंगलवार यानी आज सुबह 10 बजे से शुरू होगा। इसके लिए सुरक्षा व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त है। उपद्रव करने की आशंका के मद्देनजर फोर्स तैनात है।

कक्षा प्रतिनिधि पद के लिए 297 वोटरों में महज 56 ने मतदान किया

उधर कक्षा प्रतिनिधि पद के लिए सोमवार की सुबह आठ बजे से अपराह्न एक बजे तक शांतिपूर्ण तरीके से हुए मतदान में करन को विजयी घोषित किया गया। कुल 297 वोटरों में महज 56 ने मतदान किया। इसमें शुभम अग्रहरि को 17 वोट और करन को 38 वोट मिले। जबकि, एक वोट अवैध रहा। इसके अलावा कक्षा प्रतिनिधि के लिए बीए प्रथम वर्ष (पुरुष) में कृष्णा गुप्ता, बीए तृतीय वर्ष (पुरुष) में नवीन कुमार, बीएससी प्रथम वर्ष (महिला) में प्रियंका पासवान, बीएससी द्वितीय वर्ष (पुरुष) में गुलाम अशरफ, एमए प्रथम वर्ष (पुरुष) में अभिषेक सिंह और एलएलएम प्रथम वर्ष (पुरुष) में रविंद्र कुमार निर्विरोध निर्वाचित घोषित किए गए।

अब ईश्वर शरण डिग्री कॉलेज में भी छात्र परिषद का पोल निरस्त

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के संघटक महाविद्यालय ईश्वर शरण डिग्री कॉलेज कॉलेज में भी छात्र परिषद का पोल निरस्त कर दिया गया है। नामांकन पत्र की जांच के दौरान दोनों प्रत्याशियों के प्रपत्र में खामियां मिलने पर यह निर्णय लिया गया।

सिर्फ दो प्रत्याशियों ने कक्षा परिषद पद पर किया था नामांकन, प्रपत्र अवैध

चुनाव अधिकारी डॉ. अनुज सलूजा ने बताया कि बीए प्रथम वर्ष के छात्र रजनीश वर्मा और एमए तृतीय सेमेस्टर की छात्रा किरन सिंह ने कक्षा प्रतिनिधि पद के लिए नामांकन किया था। सोमवार को नामांकन पत्र की जांच की गई। चुनाव अधिकारी ने बताया कि रजनीश ने नामांकन पत्र के साथ उपस्थिति प्रमाण पत्र, महाविद्यालय परीक्षा प्रभारी का प्रमाणपत्र, थाना प्रभारी का प्रमाण पत्र, हाईस्कूल का प्रमाणपत्र मूल व छायाप्रति संलग्न नहीं किया था। जबकि, किरन ने उपस्थिति प्रमाणपत्र, अनुशासनाधिकारी का प्रमाणपत्र, महाविद्यालय परीक्षा प्रभारी का प्रमाणपत्र, थाना प्रभारी का प्रमाण पत्र और शपथपत्र नहीं जमा किया था। ऐसे में दोनों प्रत्याशियों का नामांकन पत्र वैध न मिलने की स्थिति में चुनाव समिति की ओर से छात्र परिषद चुनाव निरस्त कर दिया गया।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.