Vidhan Sabha Poll 2022: इंटरनेट मीडिया पर प्रदेश सरकार की उपलब्धियां गिना रहे जनप्रतिनिधि Prayagraj News

प्रयागराज में भी विधान सभा चुनाव 2022 को लेकर राजनीतिक दलों की सक्रियता बढ़ गई है।

Vidhan Sabha Poll 2022 इलाहाबाद सांसद डॉ. रीता बहुगुणा जोशी ने ट्वीट किया है। इसमें उन्‍होंने भाजपा की कार्यशैली से बदली यूपी की तस्वीर इसमें गोरखपुर व सहजनवा के विकास कार्यों का उल्लेख किया गया है। बताया है कि गोरखपुर में 430.72 करोड़ रुपये के कार्यों का शिलान्यास किया गया।

Publish Date:Sun, 17 Jan 2021 11:49 AM (IST) Author: Brijesh Kumar Srivastava

प्रयागराज, जेएनएन। विधान सभा चुनाव 2022 की आहत नजर आने लगी है। इसे लेकर सभी राजनीतिक दल हरकत में आ गए हैं। प्रयागराज में भी राजनीतिक दलों की सक्रियता बढ़ गई है। एक ओर पक्ष जहां खूबियां गिना रहा है तो वहीं विपक्ष आलोचना और खामियों को गिनाने में जुटा है। कुल मिलाकर त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की वजह से राजनैतिक सरगर्मी बढ़ गई है।  

सांसद डॉ. रीता बहुगुणा जोशी ने किया ट्वीट

इलाहाबाद सांसद डॉ. रीता बहुगुणा जोशी ने ट्वीट किया है। इसमें कहा है कि भाजपा की कार्यशैली से बदली यूपी की तस्वीर इसमें गोरखपुर व सहजनवा के विकास कार्यों का उल्लेख किया गया है। बताया है कि गोरखपुर में 430.72 करोड़ रुपये के कार्यों का शिलान्यास किया गया। सहजनवां में 51.52 रुपये के कार्यों का शिलान्यास हुआ। यह भी बताया है कि गोरखपुर में 149.96 करोड़ रुपये के कार्यों का लोकार्पण किया गया जब कि सहजनवा में 32.12 करोड़ रुपये के कार्यों का लोकार्पण हुआ। 

इनकी भी इंटरनेट मीडिया पर बढ़ी सक्रियता

ऐसा ट्वीट करने वाली सांसद रीता बहुगुणा जोशी अकेली नहीं हैं। कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्त नंदी, सिद्धार्थनाथ सिंह, उप मुख्यमंत्री केशव सहित सभी इंटरनेट मीडिया पर सक्रियता बनाए हुए हैं। वे ट्ििवटर पर दिन प्रतिदिन की गतिविधियों का उल्लेख कर रहे हैं। यहां तक कि किसी भी आयोजन में शाामिल होने पर सकी फोटो व सूचना तुरंत पोस्ट की जा रही है। 

नेताओं ने अपने एकाउंट बना लिए और सक्रिय भी हैं

भाजपा पार्टी के कार्यकर्ताओं का कहना है कि पिछले चुनावों में फेसबुक के जरिए प्रचार को धार मिली थी। उससे पूर्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सभी नेताओं का आह्वान किया था कि इंटरनेट मीडिया पर भी सक्रियता बनाई जाए। प्रत्येक नेता इंटरनेट मीडिया से फैमिलियर हो। यही वजह है कि करीब करीब सभी नेताओं ने अपने एकाउंट बना लिए हैं और सक्रिय भी हैं, भले ही वह एककाउंट उनके स्टाप की तरफ से संचालित किया जा रहा है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.