जयंती पर याद किए गए पंडित जवाहर लाल नेहरू Prayagraj News

प्रयागराज, जेएनएन। देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की 130वीं जन्म तिथि पर गुरुवार को उनके पैतृक आवास आनंद भवन पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी की अगुवाई में कांग्रेसियों ने उनकी प्रतिमा पर पुष्प बरसाए। इस दौरान उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई। पूर्व राजसभा सदस्य प्रमोद तिवारी ने कहाकि भारत रत्न नेहरू जी आजादी के आंदोलन के नायक थे। पूूर्व केंद्रीय मंत्र अनिल शास्त्री ने कहा पंडित नेहरू गुटनिरपेक्ष आंदोलन और निस्त्रीकरण के प्रणेता थे। उत्तराखंड पार्टी प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह ने कहाकि वह देश के मजबूत आधार स्तंभ थे। इस दौरान चौधरी जितेंद्र नाथ सिंह, सुधाकर तिवारी, सुरेश यादव, मुकुंद तिवारी, अरुण विद्यार्थी, संजय तिवारी, नफीस अनवर, हसीब अहमद, अनिल पांडेय, किशोर वाष्र्णेय,  तस्लीमउद्दीन, फुजैल हाशमी, विवेकानंद पाठक आदि उपस्थित रहे। अल्पसंख्यक कोष के जिलाध्यक्ष अरशद अली ने बच्चों को मिठाई बांटकर जयंती मनाई।

 बच्चों के साथ नाच उठा चाचा नेहरू का आंगन

पूर्व प्रधानमंत्री स्व. पंडित जवाहर लाल नेहरू की 130वीं जयंती के अवसर पर नन्हें मुन्ने बच्चों ने 'चाचा नेहरूÓ के आंगन आनंद भवन में खूब धमाल मचाया। बाल दिवस का उत्सव मनाते हुए तारामंडल के सामने लॉन में एक से बढ़कर एक सांस्कृतिक प्रस्तुतियों ने उपस्थित लोगों का मन मोह लिया। ज्यादातर कार्यक्रमों में पर्यावरण संरक्षण, स्वच्छता, देशभक्ति और देश की रक्षा में सीमा पर डटे फौजी जवानों के जज्बे को प्रदर्शित किया गया।

कार्यक्रम की शुरुआत सुबह 10 बजे शिव वंदना से हुई। इसे जवाहर बाल भवन में प्रशिक्षण ले रहे बच्चों ने कथक, ओडिसी और भरतनाट्यम नृत्य के जरिए प्रस्तुत किया। इसके बाद सांस्कृतिक कार्यक्रमों की झड़ी लग गई। उत्सव में शामिल हुए 24 स्कूलों के छात्र छात्राओं, गैर समाज सेवी संगठन, रंगमंच व अन्य कलाओं के प्रशिक्षण संस्थानों ने हिस्सा लिया। आकर्षक परिधानों में सजे-धजे बच्चों की टोलियों ने लोकनृत्य, पर्यावरण सुरक्षा का संदेश देते नृत्य, चाचा नेहरू के जीवन, भारत माता और देशभक्ति गीतों पर नृत्य पेश कर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। खेल प्रतियोगिताएं भी हुईं जिनमें जवाहर बाल भवन के प्रशिक्षित बच्चों ने छाता-कुर्सी के साथ मस्ती की। छात्र छात्राओं के एक समूह ने शास्त्रीय नृत्य की विधा से अपने कार्यक्रम की शुरुआत की और समापन फिल्मी तरानों से किया। संस्था मयूर रंगमंच ने स्वच्छता पर आधारित नृत्य नाटिका प्रस्तुत की। इस संस्था की ओर से एक नन्हें बालक के महात्मा गांधी के रूप में आने और स्वच्छता का संदेश देने की प्रस्तुति को खूब सराहना मिली। इस कार्यक्रम में आनंद भवन के निदेशक डॉ रविकिरन, जवाहर बाल भवन की एजुकेटर स्मिता सहित स्टाफ के अन्य लोग शामिल रहे। आनंद भवन की ओर से इस कार्यकम में शामिल सभी बच्चों को उपहार और नाश्ता दिया गया।

पुलवामा के शहीदों को किया सलाम

-नृत्य नाटिका के माध्यम से फीनिक्स इंटरनेशनल स्कूल डांडी के बच्चों ने मंच पर सेना के जज्जे को प्रदर्शित किया। इसमें पुलवामा हमले में शहीद जवानों के प्रति श्रद्धांजलि व्यक्त करते हुए सैन्य जज्बे को अपने नृत्य के जरिए दर्शाया।

मुस्लिम बच्चों की देशभक्ति देख सभी हैरान

इलाहाबाद मांटेसरी स्कूल चकिया से आए छात्र छात्राओं ने देशभक्ति पर आधारित गीत और नृत्य को इस अंदाज में प्रस्तुत किया कि मौजूद सभी लोगों के रोंगटे खड़े हो गए। इन्हीं बच्चों ने पर्यावरण संरक्षण पर नृत्य नाटिका भी प्रस्तुत की।

 इन्होंने ने भी प्रस्तुति

बाल दिवस के अवसर पर स्वामी विवेकानंद विद्या मंदिर स्कूल थरवई, वीणा पाणि स्कूल छोटा बघाड़ा, स्वराज विविधा नृत्य प्रशिक्षण केंद्र, शंकरलाल पब्लिक स्कूल जसरा, क्रास्थवेट गल्र्स इंटर कालेज सहित अन्य स्कूलों से आए छात्र छात्राओं ने रंगारंग कार्यक्रम किए।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.