Panchayat Chunav in Coronavirus Period: पुलिस पर दोहरी जिम्‍मेदारी, कोरोना से बचाना है चुनाव भी कराना है

कोरोना वायरस संक्रमण के दौर में होने वाले पंचायत चुनाव को लेकर पुलिस की जिम्‍मेदारी काफी बढ़ गई है।

Panchayat Chunav in Coronavirus Period अधिकारियों का मानना है कि ग्रामीण क्षेत्र में महामारी को लेकर लोगों को जितनी जागरूकता होनी चाहिए उतनी नहीं है। ऐसे में पंचायत चुनाव के बीच संक्रमण को फैलने से रोकने पर भी लगातार जोर रहेगा।

Brijesh SrivastavaWed, 14 Apr 2021 07:49 AM (IST)

प्रयागराज, जेएनएन। कोरोना वायरस संक्रमण तेजी से फैल है। इसी में यूपी पंचायत चुनाव 2021 भी है। इसलिए पुलिस की जिम्‍मेदारी बढ़ गई है। एक ओर लोगों को कोरोना महामारी से बचाना है तो वहीं पंचायत चुनाव भी कराना है। इसी मूलमंत्र के साथ आज पुलिस पार्टियां त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव कराने के लिए निकलेंगी।

पुलिसकर्मी कोविड-19 गाइडलाइन व चुनाव आचार संहिता का कराएंगे पालन

सिविल पुलिस के जवान, पीएसी के जवान, सीआरपीएफ और होमगार्ड के जवान उच्चाधिकारियों की ओर से दिए गए निर्देश के साथ खुद को भी कोरोना के संक्रमण से बचाने की कोशिश करते रहेंगे। पोलिंग बूथ पर सुरक्षा के साथ ही उनकी जिम्मेदारी यह भी रहेगी कि कोविड की गाइडलाइन और चुनाव आचार संहिता दोनों का बेहतर तरीके से पालन कराया जाए। अधिकारियों का मानना है कि ग्रामीण क्षेत्र में महामारी को लेकर लोगों को जितनी जागरूकता होनी चाहिए, उतनी नहीं है। ऐसे में पंचायत चुनाव के बीच संक्रमण को फैलने से रोकने पर भी लगातार जोर रहेगा।

प्रयागराज में 20 हजार सुरक्षाकर्मी रहेंगे तैनात

वैसे त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को फ्री एंड फेयर कराने के लिए पुलिस ने पुख्ता इंतजाम किया है। चुनाव के लिए 20 हजार से अधिक सुरक्षाकर्मी लगाए गए हैं, जो कोरोना से बचाव संग आदर्श आचार संहिता का पालन कराएंगे। साथ ही चुनाव को प्रभावित करने या माहौल बिगाडऩे वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे। पुलिस के साथ ही पीएसी, सीआरपीएफ और होमगार्डों की भी तैनाती की गई है।

चुनाव ड्यूटी में लगे पुलिसकर्मियों को दिया गया है सख्‍त निर्देश

मंगलवार शाम पुलिस लाइन सभागार में एसएसपी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी और एसपी क्राइम आशुतोष मिश्रा ने ड्यूटी पर लगाए गए पुलिसकर्मियों को ब्रीफ किया था। इसमें बताया गया कि सभी जवान फेस मास्क खुद लगाए रहें और न लगाने वालों को मास्क पहनने के लिए कहें। गांव में बाहरी लोगों को प्रवेश न करने दें और पोलिंग बूथ से सौ मीटर दूर तक लगे पोस्टर, बैनर व होर्डिंग को हटवा दिया जाए। बूथ के भीतर केवल मतदाता ही जा सकेंगे। साथ ही सुरक्षा और चुनाव आचार संहिता से जुड़े अन्य निर्देश दिए गए। जिले में कुल 1715 मतदान केंद्र और 5202 बूथ हैं। प्रत्येक सामान्य बूथ पर पुलिस के दो सशस्त्र जवान तैनात रहेंगे।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.