Filaria की जांच के लिए होगा Night Blood Survey, जानें-प्रयागराज में स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की क्‍या है तैयारी

प्रयागराज में फाइलेरिया मर्ज की जांच के लिए स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने तैयारी की है।

सीएमओ के अनुसार 4 से 17 मार्च तक नाइट ब्लड सर्वे प्रयागराज में होगा। इसमें फाइलेरिया की जांच के लिए 4 सेंटीनल एवं 4 रैन्डम साइट्स चिन्हित की गई हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीम हर साकम से कम 500 लोगों के रक्त का नमूना लेकर रक्त पट्टिका तैयार करेंगी।

Brijesh SrivastavaFri, 26 Feb 2021 11:14 AM (IST)

प्रयागराज, जेएनएन। फाइलेरिया की जांच के लिए प्रयागराज जनपद में दो सप्ताह तक नाइट ब्लड सर्वे कराया जाएगा। यह सर्वे प्रस्तावित आइडीए कार्यक्रम 2020-21 के आयोजन से पूर्व किया जाएगा। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र धनूपुर, प्रतापपुर, मांडा, बहरिया, चाका एवं कोटवा नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खरकोनी एवं तेलियरगंज के अंतर्गत आने वाले क्षेत्रों में यह सर्वे होगा।

4 से 17 मार्च तक नाइट ब्लड सर्वे किया जाएगा

मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. प्रभाकर राय ने बताया कि 4 मार्च से 17 मार्च तक नाइट ब्लड सर्वे किया जाएगा। इसमें फाइलेरिया की जांच के लिए 4 सेंटीनल एवं 4 रैन्डम साइट्स चिन्हित की गई हैं। इसके अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग की टीम रात्रि 9 बजे से 12 बजे के मध्य हर साइट पर जाकर कम से कम 500 लोगों के रक्त का नमूना लेकर रक्त पट्टिका तैयार करेंगी।

नाइट ब्लड सर्वे के प्रचार-प्रसार के लिए टीम तैनात

प्रत्येक साइट में नाइट ब्लड सर्वे के प्रचार-प्रसार के लिए टीम लगाई गई हैं। टीमों के सदस्‍य समुदाय को फाइलेरिया और उसके उन्मूलन कार्यक्रम पर जागरूक भी कर रहे हैं। सर्वे के बाद एमएफ धनात्मक रोगियों को तीन माह के अंतराल पर वर्ष में 4 बार 12 दिवसीय उपचार उपलब्ध कराया जाएगा। सर्वे गुणवत्तापूर्ण हो, इसके लिए प्रत्येक टीम में एक-एक चिकित्सक पर्यवेक्षक के रूप में रहेंगे।   

बोले, जिला मलेरिया अधिकारी

जिला मलेरिया अधिकारी केपी द्विवेदी ने बताया कि चिन्हित साईट में सेंटिनल साईट के तौर पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र धनूपुर, प्रतापपुर, मांडा और यूपीएचसी तेलियरगंज के सरायपीठा, सेमरी, मांडा और जोधवल को चुना गया है। इसी तरह रैंडम साइट के तौर पर बहरिया, चाका एवं कोटवा तथा नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खरकोनी के सरायमदन, ददरी तालुका नौगवां, गोतावां और प्रयागपुर को चिन्हित किया गया हैI

सभी साइट्स के लैब टेक्नीशियन को तकनीकी प्रशिक्षण मिलेगा

जिला मलेरिया अधिकारी ने बताया कि नाइट ब्लड सर्वे टीम में लैब टेक्नीशियन, आशा, एएनएम, एचईओ के साथ ही बीपीएम एवं बीसीपीएम भी रहेंगी। स्वास्थ्य केंद्रों में बनी रक्त पट्टिकाओं के एकत्रीकरण, स्टेनिंग और परीक्षण कार्य में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाएगा। परीक्षण की हुई रक्त पट्टिकाऔं में सभी पॉजिटिव एवं दस प्रतिशत निगेटिव रक्त्त पट्टिकाओं की जाँच को क्रॉस चेक करने के लिए सीएमओ कार्यालय भेजा जाएगा। फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम में तकनीकी सहयोग प्रदान कर रही संस्था पाथ के नोडल अधिकारी ने बताया कि नाइट ब्लड सर्वे के आयोजन से पहले सभी साइट्स के लैब टेक्नीशियन को तकनीकी प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.