Narendra Giri News: अखाड़ा परिषद अध्‍यक्ष को श्रीमठ बाघम्‍बरी गद्दी में दी जाएगी समाधि, अंतिम दर्शन को भीड़

Narendra Giri News अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्‍यक्ष महंत नरेंद्र गिरि को आज प्रयागराज के श्रीमठ बाघम्‍बरी गद्दी में समाधि दी जाएगी। उनके पार्थिव शरीर को मठ परिसर में आम जन के दर्शन के लिए रखा गया है। विशिष्‍ट जनों की मठ में आवाजाही शुरू हो गई है।

Brijesh SrivastavaTue, 21 Sep 2021 09:05 AM (IST)
अखाड़ा परिषद के अध्‍यक्ष महंत नरेंद्र गिरि को श्रीमठ बाघम्‍बरी गद्दी में आज समाधि दी जाएगी।

प्रयागराज, जागरण संवाददाता। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि के पार्थिव शरीर को मंगलवार सुबह लोगों के दर्शन के लिए मठ में रखा गया है। दोपहर में पोस्टमार्टम होगा। इसके बाद श्रीमठ बाघम्बरी गद्दी में समाधि दी जाएगी। मठ के सूत्रों के अनुसार महंत नरेंद्र गिरि अक्सर अपने सेवादारों और शिष्यों से कहते थे कि जब भी उनकी मृत्यु हो उनको यहीं मठ में समाधि दी जाए। महंत के अंतिम दर्शनों के लिए विशिष्‍टजनों की आवाजाही शुरू हो गई है। उनके शिष्‍यों के साथ आम जन भी जुटने लगे हैं।

महंत नरेंद्र ग‍िर‍ि के अंतिम दर्शन को आ रहे सीएम और डिप्टी सीएम

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिर‍ि के अंतिम दर्शन के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सुबह 9:30 बजे प्रयागराज आ जाएंगे। उनसे पहले डिप्टी सीएम केशव मौर्य आएंगे। डिप्टी सीएम लखनऊ से हेलीकाप्टर से चल चुके है। मुख्यमंत्री के साथ कानून मंत्री ब्रजेश पाठक भी आएंगे।

आम जन अंतिम दर्शन कर सकेंगे

महंत नरेंद्र गिरि का पार्थिव शरीर को श्री मठ बाघम्बरी गद्दी परिसर में आम जन के दर्शन के लिए मंगलवार की सुबह 11:30 बजे रखा जाएगा। देर रात अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के उपाध्यक्ष देवेंद्र शास्त्री ने इस संबंध में पत्र जारी किया। उन्होंने बताया कि पहला दर्शन अखाड़े के पंच परमेश्वर करेंगे। उसके बाद जनता के दर्शन को अनुमति दी जाएगी। मंत्रियों और सांसदों ने शोक जताया है।

महंत नरेंद्र गिरि का जाना दुखद : कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह

कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी का जाना दुखद है। ईश्वर पुण्य आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान व उनके अनुयायियों को दुख सहने की शक्ति प्रदान करें।

महंत के निधन से मैं निशब्‍द हूं : पूर्व राज्‍यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी

उप्र के पूर्व विधान सभा अध्‍यक्ष व पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी ने कहा कि अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष एवं बड़े हनुमान मंदिर के महंत नरेंद्र गिरी जी महाराज के आकस्मिक निधन से मैं निशब्द हूं। उनकी मौत अपने पीछे एक गहरा राज छोड़ गई है। जिसकी सच्चाई समाज के सामने आनी चाहिए।

आध्‍यात्‍म जगत के चमकते सूरज थे महंत : सांसद केसरी देवी

फूलपुर की सांसद केसरी देवी ने कहा कि महंत नरेंद्र गिरि आध्यात्म जगत के चमकते हुए सूरज थे। उनकी संदिग्ध मौत से भारत के धार्मिक एवं आध्यात्मिक जगत को अपूरणीय क्षति हुई है। उन्होंने सदैव संतों का नेतृत्व किया है, जो कि अतुलनीय है।

बहुत ही दुर्भाग्‍यपूर्ण घटना है : सांसद रीता जोशी

सांसद डा. रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। ईश्वर से प्रार्थना करती हूं कि महंत जी को अपने श्री चरणों में स्थान दें। उनका जाना धार्मिक जगत को आहत करता हैं।

विहिप परिवार आहत है : राष्‍ट्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे

विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा कि उनके ब्रह्मलीन होने पर विश्व हिंदू परिषद परिवार आहत है। संत समाज का नेतृत्व करने वाले नरेंद्र गिरी काफी समय पूर्व से विश्व हिंदू परिषद की मार्गदर्शक मंडल बैठक में शामिल होते रहे हैं।

अध्‍यात्‍म जगह के रिक्‍त स्‍थान की पूर्ति असंभव : जिपं अध्‍यक्ष वीके सिंह

जिला पंचायत अध्यक्ष डा. वीके सिंह ने महंत नरेंद्र गिरि के आकस्मिक निधन पर दुख प्रकट करते हुए कहा कि उनकी मृत्यु से मैं बहुत दुखी हूं। उनकी मृत्यु से अध्यात्म जगत के रिक्त स्थान की पूर्ति असंभव है।

पोस्टमार्टम के लिए बना डाक्टरों का पैनल

महंत नरेंद्र गिरि के शव का पोस्टमार्टम करने के लिए सीएमओ ने पूरी व्यवस्था कर ली है। देर रात तय हुआ कि तीन डाक्टरों के पैनल से पोस्टमार्टम कराया जाएगा। पोस्टमार्टम से पहले शव पर लेप न लगाने का भी निर्णय लिया गया, क्योंकि केमिकल लगाने से शरीर की स्थिति में बदलाव हो सकता है। मुख्य चिकित्साधिकारी डा. नानक सरन ने बताया कि पोस्टमार्टम कराने के लिए उन्होंने अपनी तरफ से पूरी तैयारी कर ली है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.