Murder in UP Prayagraj : पुलिस की सूझबूझ से चंद घंटों में भूसा व्यवसायी की हत्या का राजफाश

भूसा कारोबारी की हत्‍या का पुलिस ने अपनी सूझबूझ से चंद घंटे बाद ही राजफाश कर दिया।

दोनों ने सोरांव तहसील चलकर प्यारेलाल से जमीन के बैनामे के लिए कहा तो वह मुकर गया। उसने कहा कि आज के रेट से रुपये मिलेंगे तभी बैनामा करेगा। ऐसा न होने पर जमीन का बैनामा अपनी बेटी के नाम कर देगा। यह सुनकर दोनों बौखला गए थे।

Rajneesh MishraThu, 25 Feb 2021 11:24 AM (IST)

 प्रयागराज,जेएनएन। जिले में सोरांव थाना क्षेत्र के हाजीगंज गांव में मंगलवार देर रात एक भूसा कारोबारी की धारदार हथियार से मारकर हत्या करने के मामले का पुलिस ने चंद घंटे बाद ही राजफाश कर दिया। दो हत्यारोपितों को गिरफ्तार भी किया गया। इनके तक पुलिस बड़ी सूझबूझ के साथ पहुंची। घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद ही एसपी गंगापार को संदेह हो गया था कि इसमें ऐसे व्यक्ति का हाथ है, जो भूसा कारोबारी प्यारे लाल यादव का बेहद खास था। उन्होंने मृतक के स्वजनों से बातचीत करनी शुरू की और फिर बेहद करीबियों की सूची बनवाई। इसके बाद पुलिस ने उन सभी को उठाया, जिसके नाम बताए गए थे। कड़ाई से पूछताछ हुई तो दोनों आरोपितों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

कई गुना जमीन का दाम होने पर बदल गया था प्यारेलाल

हाजीगंज निवासी प्यारेलाल यादव की भूसा की दुकान पर दिनभर मजमा लगा रहता था। वह प्रापर्टी डीलिंग का भी काम करता था, जिस कारण जमीन का कारोबार करने वाले भी उसके यहां बैठकबाजी करते थे। इसी में गांव के शंकरलाल और घनश्याम भी शामिल थे। हालांकि, दोनों प्रापर्टी डीलिंग का काम नहीं करते थे, लेकिन प्यारेलाल की करीब चार बिस्वा जमीन लेना चाहते थे। इसके लिए प्यारेलाल से एक वर्ष पहले सौदा भी तय कर लिया था। उस समय जमीन की कीमत काफी कम थी। लेकिन इधर जमीन की कीमत में कई गुना वृद्वि हो गई थी। रविवार को दोनों ने सोरांव तहसील चलकर प्यारेलाल से जमीन के बैनामे के लिए कहा तो वह मुकर गया। उसने कहा कि आज के रेट से रुपये मिलेंगे तभी बैनामा करेगा। ऐसा न होने पर जमीन का बैनामा अपनी बेटी के नाम कर देगा। यह सुनकर दोनों बौखला गया और मंगलवार देर रात प्यारेलाल की हत्या कर दी थी।

कैसे हुई थी घटना

सोरांव थाना क्षेत्र के हाजीगंज गांव निवासी प्यारे लाल यादव (65) भूसा कारोबारी थे। घर के बगल में ही उन्होंने भूसे का गोदाम बना रखा है। यहां वे अकेले यहां रहते थे। मंगलवार देर रात फावड़ा और सरिया से सिर पर प्रहार कर उनको मौत के घाट उतार दिया गया था। बुधवार सुबह उनके छोटे पुत्र अशोक की पुत्री सोनाली नाश्ता देने पहुंची तो घटना की जानकारी हुई थी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.