नए पुल से मां-बेटी ने लगाई यमुना में छलांग

नए पुल से मां-बेटी ने लगाई यमुना में छलांग

संसू नैनी नए पुल से गुरुवार सुबह एक मां ने अपनी बेटी के साथ यमुना में छलांग लगा दी।

Publish Date:Thu, 24 Dec 2020 09:39 PM (IST) Author: Jagran

संसू, नैनी : नए पुल से गुरुवार सुबह एक मां ने अपनी बेटी के साथ यमुना में छलांग लगा दी। नाविकों ने मां को तो बचा लिया, लेकिन बेटी लापता है। गोताखोर उसकी तलाश कर रहे हैं।

कोरांव थाना क्षेत्र के पौवरिया वेलवनिया गांव निवासी विनय कुमार यादव अपनी पत्नी विजय लक्ष्मी यादव और 13 वर्षीय बेटी सुरभि के साथ औद्योगिक क्षेत्र के रामपुर गांव में किराये का कमरा लेकर रहते हैं। पति-पत्नी एक फैक्ट्री में काम करते हैं। पुलिस के मुताबिक, विजय लक्ष्मी रात में अपनी बेटी के साथ घर से निकल आई। इसके बाद गुरुवार सुबह नए पुल पर पहुंच गए। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि मां-बेटी कुछ देर तक पुल के ऊपर टहलती रहीं, लेकिन फिर एकाएक रेलिग पार करके यमुना में कूद गईं। तभी नाविकों की नजर पड़ी तो वह भी पानी में कूद पड़े और महिला को किसी तरह बचा लिया, मगर बेटी गहरे पानी में समा गई। महिला को स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां देर शाम तक उसे होश नहीं आया। मौके पर पहुंची नैनी थाने की पुलिस ने गोताखोरों की मदद से बेटी की तलाश करवाती रही, लेकिन पता नहीं चल सका। इंस्पेक्टर नैनी जितेंद्र सिंह का कहना है कि अस्पताल पहुंचे विजय लक्ष्मी के देवर राहुल से पूछताछ की गई, मगर घटना का कारण साफ नहीं हुआ। प्रथम दृष्टया खुदकशी की कोशिश के पीछे घरेलू वजह मानी जा रही है।

......

यमुना में कूदकर आभूषण कारीगर ने दी जान

प्रयागराज : नैनी थाना क्षेत्र के मड़ौका निवासी 30 वर्षीय आभूषण कारीगर राजकुमार उर्फ रज्जू निषाद ने गुरुवार सुबह नए पुल से यमुना में कूदकर जान दे दी। मड़ौका में रहने वाले किशन लाल निषाद का बेटा रज्जू एक आभूषण दुकान पर बतौर कारीगर काम करता था। बताया जाता है कि अलसुबह वह बाइक से नए पुल पर पहुंचा और यमुना नदी में कूद गया। गोताखोरों ने जब तक उसकी तलाश की, तब तक मौत हो चुकी थी। इंस्पेक्टर कीडगंज रोशन लाल ने बताया कि आत्महत्या की वजह के बारे में घरवाले कुछ नहीं बता सके। चचेरी बहनों को कूदने से पुलिस ने बचाया

नए पुल से कूदने की एक के बाद एक घटना होने पर पुलिस ने वहां अतिरिक्त फोर्स लगा दी। इसी दौरान वहां पहुंची चचेरी बहनों ने भी यमुना में कूदने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस ने दोनों को बचा लिया। पूछताछ करने के बाद उनके घरवालों को बुलाकर सुपुर्द कर दिया गया। कीडगंज पुलिस ने बताया कि चचेरी बहनें हंडिया की रहने वाली थीं। पारिवारिक कारणों से वह खुदकशी करने के लिए नए पुल पर पहुंची थी, मगर दोनों को बचा लिया गया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.