नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में Male Sterilization केवल प्रयागराज में ही, जानिए कहां है यह सुविधा

नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दारागंज के प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. अनिल कुमार ने कहा कि पुरुष नसबंदी तो अस्पतालों में हमेशा होती ही रहती है लेकिन नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में केवल प्रयागराज के दारागंज में ही यह सुविधा है। इसके लिए सरकार से उन्हें पुरस्कार भी मिल चुका है।

Brijesh SrivastavaFri, 23 Jul 2021 09:13 AM (IST)
नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दारागंंज में ही पुरूष नसबंदी की जाती है। अब तक 175 आपरेशन किए जा चुके हैं।

प्रयागराज, जेएनएन। नसबंदी और पुरुष नसबंदी की सुविधा वैसे तो प्रदेश भर के अनेक सरकारी अस्पतालों में  है। नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की बात करें तो यह सुविधा सिर्फ प्रयागराज में ही है। ऐसा दावा किया जा रहा है कि यहां के एकमात्र केंद्र में एनएसवी यानी नान स्कैल्पल वासेक्टोमी होती है। इसका अर्थ है बिना चीरा लगाए नसबंदी का आपरेशन होना। दावा है कि नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दारागंंज में ही पुरूष नसबंदी की जाती है और अब तक 175 आपरेशन किए जा चुके हैं।

यहां पुरुष नसबंदी की शुरूआत 2019 में शुरू हुई

नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दारागंज के प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. अनिल कुमार कहते हैं कि यहां पुरुष नसबंदी की शुरुआत 28 नवंबर 2019 को हुई थी। उस समय एक माह में 68 आपरेशन किए गए थे। मार्च 2020 तक में 86 आपरेशन किए थे। धीरे-धीरे लोगों में इसका प्रचार प्रसार होता गया तो 2020-2021 में 53 और नसबंदी हुई। वर्तमान में चल रहे जनसंख्या स्थिरता पखवारा में 11 जुलाई से अब तक 33 पुरुष, इस अस्पताल में आकर नसबंदी करा चुके हैं।

नसबंदी कराने वाले पुरुषों को मिलती है धनराशि

डा. अनिल कुमार ने बताया कि नसबंदी कराने वाले पुुरुष के बैंक खाते में सरकार 3000 रुपये का अंशदान देती है। जबकि लाभार्थी को लाने वाली एएनएम, आशा कार्यकर्ता और अन्य प्रेरक को प्रति केस 400 रुपये दिए जाते हैं। बताया कि नसबंदी के आपरेशन अब बिना चीरा लगाए हाेते हैं और एक आपरेशन में पांच से सात मिनट ही लगते हैं। उन्होेंने जनसंख्या नियंत्रण में भागीदारी के लिए केंद्र आ रहे लोगों की सराहना की।

नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दारागंज के प्रभारी चिकित्साधिकारी का दावा

नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दारागंज के प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. अनिल कुमार ने कहा कि पुरुष नसबंदी तो अस्पतालों में हमेशा होती ही रहती है लेकिन नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में केवल प्रयागराज के दारागंज में ही यह सुविधा है और इसके लिए सरकार से उन्हें पुरस्कार भी मिल चुका है। कहा कि आपरेशन वे खुद करते हैं इसमें तकनीकी स्टाफ की मदद भी ली जाती है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.