Mahant Narendra Giri Death Case: प्रयागराज पुलिस को सौंपा गया स्वामी आनंद गिरि, पुलिस लाइन में क्राइम ब्रांच टीम कर रही निगरानी

Mahant Narendra Giri Death Case सीओ देवबन्द रजनीश उपाधयाय के नेतृत्व में सहारनपुर पुलिस व एसओजी की टीम आंनद गिरी को सहारनपुर से सड़क मार्ग से लेकर प्रयागराज पहुंची। इसके बाद प्रयागराज पुलिस की टीम ने स्वामी आनंद गिरि को अपनी हिरासत में ले लिया।

Dharmendra PandeyTue, 21 Sep 2021 03:05 PM (IST)
आनंद गिरि को हिरासत में लेकर सहारनपुर पुलिस और एसओजी की टीम मंगलवार को दोपहर में प्रयागराज पहुंची

प्रयागराज, जेएनएन। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष तथा निरंजनी अखाड़े के सचिव महंत नरेन्द्र गिरि की सोमवार को संदिग्ध मौत के बाद में पुलिस की रडार पर आने वाले स्वामी आनंद गिरि को प्रयागराज पुलिस ने अपनी हिरासत में ले लिया है। आनंद गिरि को हरिद्वार पुलिस से अपनी हिरासत में लेकर सहारनपुर पुलिस और एसओजी की टीम मंगलवार को दोपहर में प्रयागराज पहुंची थी।

सीओ देवबन्द रजनीश उपाधयाय के नेतृत्व में सहारनपुर पुलिस व एसओजी की टीम आंनद गिरी को सहारनपुर से सड़क मार्ग से लेकर प्रयागराज पहुंची। इसके बाद प्रयागराज पुलिस की टीम ने स्वामी आनंद गिरि को अपनी हिरासत में ले लिया। प्रयागराज पुलिस की टीम ने क्राइम ब्रांच टीम की निगरानी में स्वामी आनंद गिरि को फिलहाल पुलिस लाइन में रखा है। प्रयागराज के जार्जटाउन थाना में सोमवार रात स्वामी आनंद गिरि के खिलाफ महंत नरेन्द्र गिरि को आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया गया था।

प्रयागराज में मंगलवार दोपहर से ही पुलिस लाइन में स्वामी आनंद गिरि से पूछताछ की जा रही है। आनंद गिरि से पुलिस अधिकारी सवाल-जवाब कर रहे हैं। इस दौरान कुछ लोग आनंद से मिलने पहुंचे जिन्हेंं सख्ती से वापस कर दिया गया। इससे पहले सोमवार रात ही प्रयागराज में मठ के पुजारी आद्या तिवारी और उनके पुत्र संदीप तिवारी को हिरासत में लिया गया। जिनका नाम सुसाइड नोट में भी है। तीनों को प्राइम सस्पेक्ट मानकर पुलिस ने सुसाइड नोट में नाम होने की वजह से हिरासत में लिया है। इस बीच एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि आनंद गिरि को प्रयागराज लाया गया है। आनंद को रात में ही हरिद्वार से हिरासत में लेकर पुलिस सहारनपुर जनपद ले गई थी। इसके बाद आज दोपहर में प्रयागराज पहुंचने के बाद प्रयागराज पुलिस की हिरासत में दिया गया। प्रयागराज पुलिस ने आनंद गिरि को पुलिस लाइन के क्राइम ब्रांच की निगरानी में रखा है।

महंत नरेन्द्र गिरि की प्रयागराज में सोमवार को संदिग्ध मौत मामले में उनका परम शिष्य आनंद गिरि पुलिस की रडार पर है। हरिद्वार की एसपी सिटी कमलेश उपाधयाय ने स्वामी आनंद गिरि को सोमवार देर शाम अपनी हिरासत में रखा था। इसके बाद उत्तर प्रदेश के डीजीपी मुकुल गोयल की उत्तराखंड के डीजीपी से वार्ता के बाद सहारनपुर पुलिस तथा एसओजी टीम को सौंपने का फैसला किया गया। सहारनपुर के सीओ देवबन्द रजनीश उपाधयाय ने हरिद्वार से आनंद गिरि हिरासत में ले लिया। हरिद्वार की एसपी सिटी कमलेश उपाधयाय ने बताया कि उत्तर प्रदेश पुलिस देर रात करीब 10 बजे हरिद्वार पहुंची थी। हरिद्वार पुलिस ने आनंद गिरि को पहले ही आश्रम के नजरबंद करके रखा हुआ था। इस दौरान उत्तर प्रदेश पुलिस की टीम ने डेढ़ घंटे की पूछताछ के बाद आनंद गिरि को हिरासत में लिया है। हिरासत में लेने के बाद सहारनपुर पुलिस की टीम रात में ही सहारनपुर पुलिस लाइन पहुंची थी। महंत की मौत की सूचना पर सोमवार शाम से ही उत्तराखंड पुलिस स्वामी आनंद गिरि के कांगड़ी गाजीवाली के आश्रम पंहुच गई थी और हाउस अरेस्ट कर रखा था। रात करीब साढ़े 10 बजे यूपी पुलिस की सहारनपुर एसओजी की टीम पंहुची और बन्द कमरे में पूछताछ के बाद हिरासत में लिया।

महंत नरेंद्र गिरी की प्रयागराज में मौत के बाद यूपी पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला था। जिसमे उन्होंने अपने शिष्य आनंद गिरि को मौत की वजह बताया था। उसके बाद ही पुलिस उन्हेंं संदिग्ध मान रही थी। प्रयागराज में आनंद गिरि के खिलाफ महंत नरेन्द्र गिरि को आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज किया गया है। प्रदेश का सहारनपुर उत्तराखंड की सीमा हरिद्वार से लगा होने के कारण एडीजी एलओ प्रशांत कुमार ने सहारनपुर एसएसपी को आनंद गिरि को हिरासत में लेने का निर्देश दिया था। 

यह भी पढ़ें:Narendra Giri Death Case: दस बिंदुओं में जानिए अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरि की संदिग्ध मौत में कल से आज तक का घटनाक्रम

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.