उत्‍तर प्रदेश में कौशांबी जिला कोरोना वायरस के संक्रमण से मुक्त, पांच अप्रैल को मिला था पहला मरीज, अब एक भी मरीज नहीं

मुख्य चिकित्साधिकारी (सीएमओ) का दावा है कि अब जिले में एक भी संक्रमित मरीज नहीं रह गया है।

सीएमओ डॉ. पीएम चतुर्वेदी व सर्विलांस अधिकारी डॉ. एस अग्रवाल ने बताया कि पूरे प्रदेश में कौशांबी पहला जनपद है जो रविवार कोरोना मुक्त हुआ। कहा कि लॉकडाउन में लोगों का मिला सहयोग और स्वास्थ विभाग की कवायद कारगर रही। रैपिड रिस्पांस व जांच टीम ने भी विशेष भूमिका निभाई।

Publish Date:Sun, 24 Jan 2021 10:12 PM (IST) Author: Rajneesh Mishra

प्रयागराज, जेएनएन। यूपी में कौशांबी जनपद कोरोना से मुक्त हो गया है। मुख्य चिकित्साधिकारी (सीएमओ) का दावा है कि अब जिले में एक भी संक्रमित मरीज नहीं रह गया है। यह सूचना शासन को भी भेज दी गई है।

जिले में पांच अप्रैल 2020 को विकास खंड कड़ा क्षेत्र के पचाभा गांव में पहला संक्रमित मिला था। संक्रमित युवक था जो राजस्थान से लौटा था। शनिवार 23 जनवरी 2021 तक जनपद में कुल 2267 कोरोना संक्रमित पाए गए थे। इनमें 27 वह लोग भी हैैं जिनकी मौत उपचार के दौरान हो गई थी। रविवार 24 जनवरी 2021 को संक्रमित मरीजों की संख्या भी शून्य हो गई। सीएमओ डॉ. पीएम चतुर्वेदी व सर्विलांस अधिकारी डॉ. एस अग्रवाल ने बताया कि पूरे प्रदेश में कौशांबी पहला जनपद है जो रविवार कोरोना मुक्त हुआ। कहा कि लॉकडाउन में लोगों का मिला सहयोग और स्वास्थ विभाग की कवायद कारगर रही है। रैपिड रिस्पांस व जांच टीम ने भी विशेष भूमिका निभाई। अपर सीएमओ डॉ. एचपी मणि का कहना है कि पूरे कोरोना कॉल में अपनी ड्यूटी चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मियों ने बखूबी निभाई। जांच के लिए कुल 24 टीमें बनाई गई थीं।

डीएम ने की सराहना

 जिलाधिकारी अमित सिंह ने भी कोरोना काल में ड्यूटी करने वाले चिकित्सकों, स्वास्थ्य कर्मी, पुलिस टीम व सफाईकर्मियों की सरहाना की है। कहा है कि कौशांबी में कोरोना मरीजों की संख्या शून्य होने का श्रेय कोरोना योद्धाओं को जाता है। कोविड वार्ड में ड्यूटी करने वाली महिला स्वास्थ्य कर्मियों को 26 जनवरी को सम्मानित किया जाएगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.