नैनी सेंट्रल जेल में लगेगा 4-जी नेटवर्क को रोकने वाला जैमर Prayagraj News

प्रयागराज, जेएनएन। सेंट्रल जेल नैनी में 4-जी मोबाइल नेटवर्क को रोकने वाला जैमर लगाया जाएगा। ऐसा इसलिए ताकि जेल में बंद शातिर अपराधी फोन पर किसी शख्स को धमकी देने अथवा रंगदारी मांगने जैसी घटना को अंजाम न दे सकें। इस संबंध में जिले के नोडल अधिकारी बनाए गए पुलिस महानिदेशक सतर्कता हितेश चंद्र अवस्थी ने जेल का भ्रमण किया।

पुलिस महानिदेशक सतर्कता सुरक्षा व तकनीकी पक्ष पर जेल प्रशासन से बात की

पुलिस महानिदेशक सतर्कता हितेश चंद्र अवस्थी ने सुरक्षा से लेकर तकनीकी पक्ष पर भी जेल प्रशासन से बातचीत की। साथ ही बंदियों के आपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए 4-जी नेटवर्क वाला जैमर लगवाने पर भी जोर दिया। इससे पहले नोडल अधिकारी झूंसी थाने पहुंचकर वहां जानकारी ली। फिर पूरेदासपुर गांव पहुंचकर पुलिस पेट्रोलिंग की जांच की। इस दौरान ग्रामीणों से पुलिस की कार्यशैली के बारे में फीडबैक लिया। सिविल लाइंस थाने में भी व्यवस्था देखने के बाद पुलिस अधिकारियों की बैठक कर अपराध पर अंकुश लगाने के निर्देश दिए। भ्रमण के दौरान एसएसपी सिद्धार्थ अनिरुद्ध पंकज, एएसपी अमित आनंद भी मौजूद रहे। वह बुधवार को जनप्रतिनिधियों से भी मुलाकात और दूसरे कई विभागों के साथ भी बैठक कर व्यवस्था सुधारने के लिए सुझाव लेंगे।

शासन तक पहुंचाएंगे जनता की समस्या

पुलिस लाइन सभागार में मीडिया से मुखातिब नोडल अधिकारी हितेश चंद्र अवस्थी ने कहा कि उनकी प्राथमिकता लोगों की समस्याओं का समाधान करना  और जिले में सुरक्षित माहौल तैयार करना है। कई बार शासन तक लोगों की समस्या सही तरीके से नहीं पहुंच पाती, जिसे वह पहुंचाएंगे। उन्होंने कहा कि लोगों से संपर्क किया गया, ट्रैफिक व्यवस्था देखी गई और कानून-व्यवस्था पर अफसरों से बात कही गई है। नोडल अधिकारी ने अपराध को रोकने और पुरानी घटनाओं के खुलासे के लिए एसएसपी को निर्देश दिए हैं। साथ ही जमीन के झगड़ों को निपटाने में प्रशासनिक भूमिका बढ़ाने पर जोर दिया है।

 

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.