घर में था अवैध हथियार का कारखाना, प्रतापगढ़ में ATS की छापेमारी में पिस्टल-रिवॉल्वर समेत कई असलहे जब्त, छह लोग गिरफ्तार

लालगंज कोतवाली के असरही गांव के एक कमरे में अवैध हथियार बनाकर बेचने की भनक पुलिस को लगी थी। पुलिस टीम कई दिन से वहां निगाह रखे थी। मुखबिरों से भी जानकारी ली जा रही थी। पुख्ता सूचना मिलने पर रविवार शाम पुलिस ने उस कमरे को घेरकर दबिश दी।

Ankur TripathiSun, 13 Jun 2021 06:57 PM (IST)
एटीएस ने स्थानीय पुलिस के साथ लालगंज इलाके के असरही गांव के मकान में छापा मारकर बरामदगी और गिरफ्तारी की।

प्रयागराज, जेएनएन। पड़ोसी जनपद प्रतापगढ़ में अपराधियों ने अवैध हथियार बनाने के लिए कारखाना लगा रखा था। वहां तमंचे बनाकर बेचे जा रहे थे। दूसरे जिलों में भी अवैध असलहों की सप्लाई की जाने की खबर मिली तो रविवार को एटीएस ने स्थानीय पुलिस के साथ लालगंज इलाके के असरही गांव के मकान में छापा मारकर बरामदगी और गिरफ्तारी की। पुलिस को वहां पिस्टल, रिवॉल्वर, तमंचे और बड़ी संख्या में कारतूस मिले हैं। असलहे बनाने के उपकरण और औजार भी जब्त किए गए। छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है जिनसे पूछताछ कर और हथियार बरामद करने का प्रयास हो रहा है। रात में आइजी रेंज प्रयागराज ने भी प्रतापगढ़ जाकर अवैध हथियारों के कारखाने का निरीक्षण किया और आरोपितों से पूछताछ की। 

एटीएस को लगी भनक तो रखी जा रही थी निगाह

लालगंज कोतवाली के असरही गांव के एक कमरे में अवैध हथियार बनाकर बेचने की भनक एटीएस (एंटी टेररिस्ट स्कवायड) को लगी थी। एटीएस की टीम टीम कई दिन से वहां निगाह रखे थी। मुखबिरों से भी जानकारी ली जा रही थी। पुख्ता सूचना मिलने पर रविवार शाम एटीएस ने लालगंज कोतवाली पुलिस के साथ उस कमरे को घेरकर दबिश दी। पुलिस टीम कमरे में दाखिल हुई तो वहां अवैध रूप से तमंचा बनाने के उपकरण रखे मिले। तैयार और अर्धनिर्मित तमंचे तथा उन्हें तैयार करने के औजार थे। मौके से पुलिस ने दो पिस्टल, दो रिवाल्वर, डेढ़ दर्जन अर्धनिर्मित तमंचे, भारी मात्रा में कारतूस और असलहा बनाने का उपकरण बरामद किया है। अवैध फैक्ट्री संचालित होने की जानकारी होने पर प्रभारी एसपी गंगापार धवल जायसवाल फिर प्रयागराज से लौट आए। वह भी फोर्स के साथ मौके पर गए। पुलिस बबलू अंसारी सहित छह लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है

ज्यादातर अवैध असलहे आते रहे हैं तस्करी से

सीओ जगमोहन ने बताया कि इस मामले में अभी छानबीन चल रही है। पता चला है कि यहां असलहे बनाकर प्रतापगढ़ के साथ ही आसपास के जनपदों में भी बेचा जा रहा था। आमतौर पर बिहार के मुंगेर से ही हथियारों की तस्करी की जाती रही है। प्रतापगढ़ के साथ ही प्रयागराज में एसटीएफ, क्राइम ब्रांच तथा पुलिस कई तस्करों को गिरफ्तार कर अवैध हथियार बरामद कर चुकी है। कुछ दिन पहले भी पुलिस ने यमुनापार इलाके में एक हथियार तस्कर को गिरफ्तार कर मुंगेर से तस्करी की पिस्टल बरामद की थी। अब लंबे समय बाद प्रतापगढ़ में लोकल स्तर असलहे बनाने के कारखाने को बेनकाब किया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.