Health News: प्रयागराज में खतरा बढ़ता जा रहा, डेंगू के डंक से 17 नए मिले मरीज

डेंगू फैलने का दायरा बढ़ता ही जा रहा है। वजह सिर्फ यही है कि आजकल का मौसम डेंगू वाले मच्छरों के पनपने के लिए मुफीद है और घरों में किसी न किसी पात्र में कई दिनों से जमे पानी को बहाने के प्रति संजीदगी लोगों में कम है।

Ankur TripathiThu, 23 Sep 2021 03:10 PM (IST)
मोतीलाल नेहरू मेडिकल परिसर भी असुक्षित, चार छात्र छात्राओं को हुआ डेंगू

प्रयागराज, जागरण संवाददाता। डेंगू बुखार के प्रभाव में अब पूरा जिला हो गया है। इसके शुरुआती मोहल्ले शिवकुटी, गोविंदपुर, तेलियरगंज और छोटा बघाड़ा में स्थिति चिंताजनक है तो मोतीलाल नेहरू मेडिकल कालेज परिसर हास्टल में रहने वाले छात्र छात्राएं भी सुरक्षित नहीं हैं। बुधवार को 17 लोगों में डेंगू की पुष्टि हुई, इसमें चार मरीज मेडिकल कालेज परिसर के हैं। एक दिन में डेंगू मरीजों के मिलने की यह अब तक की सर्वाधिक संख्या है। हालांकि सरकारी आंकड़े के अनुसार डेंगू से अब तक केवल एक मौत हुई है।

जमा पानी नहीं हटाने से खतरा बढ़ा

डेंगू फैलने का दायरा एक से दूसरे क्षेत्र में बढ़ता ही जा रहा है। वजह सिर्फ यही है कि आजकल का मौसम डेंगू वाले मच्छरों के पनपने के लिए मुफीद है और घरों में किसी न किसी पात्र में कई दिनों से जमे पानी को बहाने के प्रति संजीदगी लोगों में कम है। मलेरिया विभाग और नगर निगम की तरफ से दवा छिड़काव भी काम नहीं आ रहा है। बुधवार को भी मलेरिया विभाग ने मोतीलाल नेहरू मेडिकल कालेज परिसर, तेलियरगंज, सलोरी, छोटा बघाड़ा, राजापुर, पीएसी परिसर मीरापट्टी, करबला, करेली, बाई का बाग और अल्लापुर के तिलकनगर में एंटी लार्वा का छिड़काव कराया।

यहां मिले डेंगू के मरीज

मेडिकल कालेज परिसर में चार, तेलियरगंज में दो तथा मऊआइमा, कौंधियारा, मेजा, राजापुर, शिवकुटी, अल्लापुर, खुल्दाबाद, सिविल लाइंस, म्योराबाद, गोङ्क्षवदपुर और सोहबतियाबाग में एक-एक मरीज में डेंगू की पुष्टि हुई।

डेंगू अब तक

बुधवार को मिले 17

कुल मिले 189

कुल स्वस्थ 159

अस्पताल में भर्ती 15

ठहरे पानी के प्रति रहें सचेत

जिला मलेरिया अधिकारी आनंद सिंह ने बताया कि जहां भी डेंगू फैल रहा है वहां दवा का छिड़काव कराया जा रहा है। मोतीलाल नेहरू मेडिकल कालेज परिसर के महिला व पुरुष हास्टल में कूलर व अन्य पात्रों में भरा पानी तो हटवा दिया गया था। विभागाध्यक्ष की तरफ से वहां पूर्व में नोटिस भी जारी हो चुकी है लेकिन आसपास पड़ी गंदगी पूरी तरह साफ नहीं हो पाई है। कहाकि मेडिकल कालेज परिसर ही नहीं, जहां भी घरों में पानी जमा हो उसे बहा देना ही उचित है। कहीं पानी में लार्वा दिख रहे हों तो उस पर दवा डाल दें या मिट्टी का तेल डाल दें। मलेरिया विभाग को भी सूचित किया जा सकता है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.