top menutop menutop menu

स्वास्थ्य मंत्री ने देखी जिले के पांच अस्पतालों की हकीकत, जाना मरीजों का हाल व अधिकारियों को निर्देशित किया Prayagraj News

स्वास्थ्य मंत्री ने देखी जिले के पांच अस्पतालों की हकीकत, जाना मरीजों का हाल व अधिकारियों को निर्देशित किया Prayagraj News
Publish Date:Sat, 04 Jul 2020 05:13 PM (IST) Author: Brijesh Srivastava

प्रयागराज,जेएनएन। स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने शनिवार को जनपद के पांच अस्पतालों का निरीक्षण किया। मंत्री ने मोतीलाल नेहरू मंडलीय अस्पताल में भर्ती मरीजों से मिलकर वहां की व्यवस्था के बारे में जानकारी ली। अस्पताल के प्रमुख अधीक्षक डॉ. वीके सिंह को निर्देशित किया कि मरीजों को किसी तरह की असुविधा न हाेने पाए। इसके बाद स्वास्थ्य मंत्री जिला महिला अस्पताल व बेली अस्पताल के ट्रामा सेंटर का निरीक्षण किए।

कोविड अस्‍पताल में मरीजों का हाल जाना

इन अस्पतालों का निरीक्षण कर मंत्री सीधे लेवल वन कोविड अस्पताल कोटवा बनी पहुंचे। वहां भर्ती मरीजों को हाल जाना। कोरोना मरीजों से दूर से ही बात की और उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। अस्पताल के अधीक्षक डॉ. अमृतलाल यादव को निर्देशित किया कि वह कोरोना के मरीजों के इलाज में किसी तरह की लापरवाही न करें। इसी क्रम में वह झूंसी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का भी निरीक्षण किया। मंत्री शाम को स्वास्थ्य विभाग की योजना की समीक्षा सर्किट हाउस में करेंगे। निरीक्षण के दौरान विशेष सचिव प्रकाश बिंदु, सीएमओ जीएस वाजपेई, समेत अन्य मौजूद रहेे।

महिला आयोग ने तलब की बालिका गृह की रिपोर्ट

खुल्दाबाद थाने के सामने स्थित राजकीय बालिका गृह की दो बालिकाओं के कोरोना पॉजिटिव होने को राज्य महिला आयोग ने संज्ञान लिया है। आयोग की उपाध्यक्ष सुषमा सिंह ने इस मामले में डीएम से रिपोर्ट तलब की है। आयोग ने इस प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए बालिका गृह की सभी बालिकाओं का स्वास्थ्य विभाग से परामर्श के अनुसार आवश्यक उपचार कराने को कहा है। कोविड-19 से सर्वोच्च प्राथमिकता पर बचाव करने के निर्देश भी दिए। आयोग की उपाध्यक्ष ने जनपद में संचालित विभिन्न गृहों की बालिकाओं एवं वहां कार्य करने वाले काॢमकों को शत-प्रतिशत मास्क का उपयोग, यथा संभव फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन, गृहों की साफ-सफाई की व्यवस्था के निर्देश दिए। नारी निकेतन परिसर को शत-प्रतिशत सैनिटाइज कराकर कोविड 19 से संक्रमित बालिकाओं के उपचार संबंधित अद्यतन विस्तृत आख्या आयोग को तत्काल उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.