Good News: होटल और रेस्टोरेंट में उपयोग हो चुके खाद्य तेल से बनेगा बायो डीजल

Good News अभिहित अधिकारी ममता चौधरी ने बताया कि खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग पर्यावरण हितैषी एवं जन हितेषी कार्यक्रमों के प्रति अपने दायित्व का निर्वहन कर रहा है ताकि आम जनमानस को सुरक्षित खाद्य पदार्थ मिल सके।

Brijesh SrivastavaPublish:Fri, 26 Nov 2021 04:41 PM (IST) Updated:Fri, 26 Nov 2021 04:41 PM (IST)
Good News: होटल और रेस्टोरेंट में उपयोग हो चुके खाद्य तेल से बनेगा बायो डीजल
Good News: होटल और रेस्टोरेंट में उपयोग हो चुके खाद्य तेल से बनेगा बायो डीजल

प्रयागराज, जागरण संवाददाता। होटल, रेस्टोरेंट व मिठाई की दुकानों की रसोई में उपयोग हुए खाद्य तेल से अब बायोडीजल बनेगा। तेल को इकट्ठा करने के लिए लखनऊ की कंपनी एसएसएस आयल ब्रदर्स ने प्रयागराज में टैंकर युक्त वाहन संचालित किया है। खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन के उच्चाधिकारियों की उपस्थिति में यह वाहन सिविल लाइंस के सुभाष चौराहा से रवाना हुआ। दो दिनों तक विभिन्न होटल व रेस्टोरेंट से इसमें तेल इकट्ठा किया जाएगा।

करीब दो माह पहले सिविल लाइंस स्थित एक होटल में भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण नई दिल्ली के द्वारा कार्यशाला हुई थी। इसमें होटल, रेस्टोरेंटव मिठाई की दुकानों के संचालक शामिल हुए थे। इसमें सहमति बनी थी कि आम जनमानस को सुरक्षित खाद्य वस्तुएं उपलब्ध कराने के लिए खाद्य तेलों के प्रति सतर्कता बरती जाएगी। उसी के तहत टैंकरयुक्त वाहन को रवाना किया गया ताकि होटल, रेस्टोरेंट की रसोई से उपयोग हो चुके खाद्य तेल को इसमें इकट्ठा किया जा सके। सहायक आयुक्त खाद्य सुरक्षा संजय पांडेय, अभिहित अधिकारी ममता चौधरी, एसएसएस आयल ब्रदर्स के अधिकारियों की उपस्थिति में वाहन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया।

अभिहित अधिकारी ममता चौधरी ने बताया कि खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग पर्यावरण हितैषी एवं जन हितेषी कार्यक्रमों के प्रति अपने दायित्व का निर्वहन कर रहा है ताकि आम जनमानस को सुरक्षित खाद्य पदार्थ मिल सके। कहा कि तेल को बार-बार गर्म किए जाने पर उसका टीपीसी यानी टोटल पोलर कंपाउंड्स 25 प्रतिशत से ज्यादा हो जाता है। ऐसे खाद्य तेल खाद्य पदार्थों में फिर से उपयोग में लाने से रोकना इस अभियान का उद्देश्य है। बताया कि होटल, रेस्टोरेंट से इकट्ठा किए जाने वाले तेल को कंपनी किसी रिफानरी को देगी। जहां इससे बायोडीजल बनेगा।