इलाहाबाद विश्वविद्यालय की पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष ऋचा सिंह पर रंगदारी का केस दर्ज Prayagraj News

प्रयागराज, जेएनएन। इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्रसंघ की पूर्व अध्यक्ष व सपा की प्रवक्ता ऋचा सिंह के खिलाफ कर्नलगंज थाने में रंगदारी मांगने का मुकदमा दर्ज हुआ है। एफआइआर कराने वाला व्‍यक्ति ठेकेदार है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

रंगदारी का ऑडियो भी हुआ था वायरल

अशोक नगर निवासी ठेकेदार संजय कपूर ने कर्नलगंज थाने में तहरीर दी थी। उसका आरोप है कि विश्वविद्यालय में ठेकेदारी का उसे ठेका मिला था। आरोप है कि ठेकेदारी करने पर इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्रसंघ की पूर्व अध्यक्ष ऋचा सिंह ने उससे रंगदारी मांगी थी। इसका ऑडियो भी वायरल हुआ था। पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की तहकीकात कर रही है।

ऋचा इविवि के महिला हॉस्‍टल परिसर में एक ठेकेदार के लोगों पर लगाया था आरोप

बता दें कि इविवि के विकास अध्ययन केंद्र की शोध छात्रा ऋचा ने दो दिसंबर को नई दिल्ली में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) के सचिव और राष्ट्रीय महिला आयोग की चेयरपर्सन से मिलकर शिकायत की थी। आरोप लगाया था कि इविवि के महिला हॉस्टल परिसर में कई वर्षों से निर्माण कार्य चल रहा है जिसमें लगे ठेकेदार के लोग शाम छह बजे के बाद भी हॉस्टल में आकर अश्लील हरकत करते हैं। इस पर इविवि प्रशासन ने हॉल ऑफ रेजीडेंस छात्रावास में अवैध तरीके से रहने का आरोप लगा छात्रावास खाली करने का नोटिस जारी किया। साथ ही पांच दिसंबर को शोध अवधि विस्तार संबंधी प्रक्रिया निलंबित करने की कुलपति प्रोफेसर रतन लाल हांगलू से अनुशंसा की।

ऋचा की शिकायत पर राष्ट्रीय महिला आयोग की टीम जांच करने पहुंची थी

उधर ऋचा की शिकायत पर ही सपा सांसद जया बच्‍चन ने पिछले दिनों राज्‍य सभा में इस मामले को उठाया था। वहीं शिकायत को संज्ञान में लेते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग की टीम जांच करने पहुंची थी। इसमें ऋचा द्वारा महिला हॉस्‍टल परिसर में लगाए गए आरोपों को सही पाया था। इस मामले में कुलपति को अपना पक्ष रखने के लिए नोटिस भी दी गई है। अब ठेकेदार की ओर से रंगदारी का आरोप लगाया गया है।

1952 से 2020 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.