Omicron Threat: एक्सपर्ट की सलाह, ओमिक्रान से बचना है तो इन उपायों को जरूर अपनाएं

स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय की एनस्थीसिया विभागाध्यक्ष डा. नीलम सिंह कहती हैं कि ओमिक्रान पर कुछ भी कहना अभी जल्दबाजी होगी। लोग प्रोटीन विटामिन से युक्त खानपान की आदत डालें रोग प्रतिरोधक क्षमता को बनाए रखें और मास्क लगाने में संवेदनशीलता बरतें

Ankur TripathiThu, 02 Dec 2021 11:25 AM (IST)
रोग प्रतिरोधक क्षमता को बनाए रखें और मास्क लगाने में संवेदनशीलता बरतें

प्रयागराज, जागरण संवाददाता। कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रान से बचाव के लिए चिकित्सा संसाधनों की ओवर हालिंग शुरू हो गई है। स्वास्थ्य विभाग से शासन ने तैयारियों की रिपोर्ट मांग ली है तो हवाई अड्डे सहित जिले के प्रवेश स्थलों पर कोरोना जांच टीमों को भी सक्रिय कर दिया गया है। इन सबके बीच कोरोना के एक्सपर्ट डाक्टर कहते हैं कि नया वैरिएंट चिंता वाली बात तो है लेकिन मास्क का उपयोग और दो गज दूरी का नियम संक्रमण से बचाव में सर्वथा उपयुक्त है। कोई मुसीबत न आए इसलिए जरूरी है कि खुद को इससे बचाएं।

मास्क लगाना ही सबसे कारगर उपाय है

स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय की एनस्थीसिया विभागाध्यक्ष डा. नीलम सिंह कहती हैं कि ओमिक्रान पर कुछ भी कहना अभी जल्दबाजी होगी। लेवल थ्री अस्पताल के आइसीयू वार्ड व आइसोलेशन वार्ड को सक्रिय कर दिया गया है। कहा कि लोग प्रोटीन, विटामिन से युक्त खानपान की आदत डालें, रोग प्रतिरोधक क्षमता को बनाए रखें और मास्क लगाने में संवेदनशीलता बरतें तो किसी भी वायरस से संक्रमित होने की संभावना ही काफी कम रहेगी। मेडिसिन विभाग के फिजीशियन डा. संतोष चौधरी कहते हैं कि कोविशील्ड और कोवैक्सीन से शरीर में बनी एंटीबाडी को भी ओमिक्रान वायरस द्वारा चकमा देने की बात अफीक्रा सहित अन्य देशों से निकलकर आ रही है लेकिन, जब तक कोई केस सामने न आए तब तक इस पर ठोस तरह से कुछ नहीं कह सकते। इतना जरूर है कि वैक्सीन ने लोगों के शरीर में बड़ी तेजी से एंटीबाडी बनाई है और वह वायरस के संक्रमण से लड़ने में सहायक है। उन्होंने कहा कि जिन भी लोगों ने मास्क लगाना और दो गज दूरी बनाना छोड़ दिया है वह इस नियम को फिर से अपना लें। वायरस से प्राथमिक सुरक्षा यही दोनों नियम हैं।

चिकित्सा संसाधन कर रहे सुचारू

सभी आक्सीजन उत्पादन प्लांट, आक्सीजन सप्लाई युक्त बेड, कंसंट्रेटर और अन्य चिकित्सा संसाधनों को सुचारू करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। फिलहाल पर्याप्त बेड हैं और एयरपोर्ट पर यात्रियों की कोविड जांच के प्रति गंभीरता बरती जा रही है।

डा. नानक सरन, सीएमओ

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.