प्रवेश का रिकार्ड तोड़ने के बाद दाखिले की खिड़की बंद

प्रवेश का रिकार्ड तोड़ने के बाद दाखिले की खिड़की बंद

इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय (इविवि) में स्नातक के तहत विभिन्न पाठ्यक्रमों में नए शैक्षणिक सत्र 2020-21 में प्रवेश का रिकार्ड टूट गया। इसी के साथ स्नातक की दाखिले की खिड़की भी अब बंद कर दी गई। केवल परास्नातक के तहत विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश की प्रक्रिया चल रही है।

Publish Date:Thu, 21 Jan 2021 05:05 AM (IST) Author: Jagran

गुरुदीप त्रिपाठी, प्रयागराज : इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय (इविवि) में स्नातक के तहत विभिन्न पाठ्यक्रमों में नए शैक्षणिक सत्र 2020-21 में प्रवेश का रिकार्ड टूट गया। इसी के साथ स्नातक की दाखिले की खिड़की भी अब बंद कर दी गई। केवल परास्नातक के तहत विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश की प्रक्रिया चल रही है।

प्रवेश प्रकोष्ठ के निदेशक प्रो. प्रशांत अग्रवाल और सदस्य डॉ. शैलेंद्र राय ने बताया कि स्नातक के आठ पाठ्यक्रमों (बीए, बीकॉम, बीएससी मैथ, बीएससी बॉयो, बीएससी होम साइंस, बीपीए, बीएफए और बीएएलएलबी) में कुल 6737 सीटों पर प्रवेश के लिए आवेदन मांगे गए थे। इसमें 6447 सीटों पर प्रवेश की प्रक्रिया पूरी हो गई। स्नातक के इन आठों पाठ्यक्रमों में केवल 209 सीटें ही खाली रह गई। वह भी मनपसंद विषयों का कॉम्बिनेशन नहीं मिलने से हुआ। इसमें अधिकांश सीटों एससी और एसटी वर्ग की हैं। इस बार 10 फीसद सीटें गरीब सवर्ण कोटे के तहत बढ़ाई भी थीं। पिछले वर्ष प्रवेश स्नातक के कुल 18 पाठ्यक्रमों में 5151 सीटों पर प्रवेश दिया गया था। इसमें 3573 छात्र और 1578 छात्राएं थीं। अब चालू सत्र में प्रवेश की प्रक्रिया पर प्रतिबंध भी लगाया है। इसके लिए प्रवेश भवन पर बाकायदा नोटिस भी चस्पा किया है।

बाहरी विवि में प्रवेश पर कोरोना की बेड़ियां

कोविड-19 की वजह से इस बार प्रयागराज और आसपास के जिलों के तमाम छात्र-छात्राएं बाहरी विवि में प्रवेश नहीं ले सके। मजबूरन उन्हें इविवि में ही दाखिला लेना पड़ा। ऐसे में यह भी माना जा रहा है कि कोरोना के चलते प्रवेश में काफी इजाफा हुआ है। यही हाल परास्नातक के विभिन्न पाठ्यक्रमों में भी देखने को मिल रहा है। पाठ्यक्रम सत्र 2019-20 सत्र 2020-21

बीए 4356 2718

बीकॉम 718 641

बीएससी मैथ 709 596

बीएससी बॉयो 361 336

बीएससी होम साइंस 35 38

बीपीए 43 36

बीएफए 75 63

बीएएलएलबी 150 118

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.