बिजली की चिंगारी ने मचा दी तबाही, कौशांबी में तीन घर जले तो प्रतापगढ़ में खेत की फसल खाक

घर में लगी आग में सब कुछ जल गया जबकि यमुनापार में खेत की फसल जल गई।

गर्मी के मौसम की शुरूआत के साथ ही आग का कहर जारी है। ज्यादातर आग लगने की घटनाओं की वजह बिजली के तार बन रहे हैं जिनके टकराने से छिटकने वाली चिंगारी खेतो में सूखी फसल और फूस के कच्चे मकानों के लिए घातक साबित होती है।

Ankur TripathiSun, 11 Apr 2021 05:38 PM (IST)

प्रयागराज, जेएनएन। गर्मी के मौसम की शुरूआत के साथ ही आग का कहर जारी है। ज्यादातर आग लगने की घटनाओं की  वजह बिजली के तार बन रहे हैं जिनके टकराने से छिटकने वाली चिंगारी खेतो में सूखी फसल और फूस के कच्चे मकानों के लिए घातक साबित होती है। इसी चिंगारी की  वजह से कौशांबी के मंझनपुर इलाके के खेरवा गांव में तीन कच्चे घर में लगी आग में सब कुछ जल गया जबकि यमुनापार में खेत की फसल जल गई।

बिजली से निकली  चिंगारी से लगी आग जले तीन घर 

कौशांबी के खेरवा गांव में बिजली के तार से निकली चिंगारी से हाहाकार मच गया। आग फैलने से एक के बाद एक तीन घरों में हजारों की गृहस्थी जलकर बर्बाद हो गई। गांव के लोगों ने मिलकर आग पर काबू पाया। रविवार की सुबह खेरवा गांव के दशरथ पुत्र  खुलकुल के घर ऊपर से गुजरी बिजली के तार में शॉर्ट सर्किट होने से चिंगारी निकलकर पड़े छप्पर पर पड़ गई जिससे घर में आग लग गई। जब तक लोग कुछ समझ पाते आग पड़ोस के पार्वती पत्नी नरेश के घर तक पहुंच गई। देखते ही देखते आग ने पड़ोसी पप्पू के घर को भी अपनी चपेट में ले लिया। तीनों घरों में रखा सारा अनाज, कपड़ा, वाहन, गृहस्थी के सामान जलकर नष्ट हो गया। आग की लपटों को देख गांव के लोग दौड़े और एक घंटे मशक्कत के बाद लगी आग पर काबू पाया।

 संदिग्ध परिस्थितियों में लगी भीषण आग

कौंधियारा क्षेत्र के जारी लोटाड़ गांव में खड़ी फसलों में लगी भीषण आग बड़ी मशक्कत के बाद गांव के लोगों ने आग पर पाया काबू कुछ ही देर बाद दमकल की गाड़ी और पुलिस भी पहुंची। करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद आग तो बुझा ली गई लेकिन खेत में सूखी फसल जलकर नष्ट हो गई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.