हेलो डॉक्टर : हरी सब्जियां व अनाज खाएं, दिल की धड़कन को जवां बनाएं ताकि रहें ता-उम्र चुस्त दुरस्त

किस तरह से अपने शरीर को फिट रखें कि दिल पर कोई विपरीत असर न पडऩे पाए।

दिल की धड़कन ताउम्र बनाए रखना हम सभी की प्राथमिकता होनी चाहिए। लेकिन अब अमूमन ऐसा होता नहीं। युवा वर्ग तो नशा मानसिक तनाव अनियमित खानपान और अत्यधिक जॉबवर्क के चलते दिल की बीमारी के शिकार हो रहे हैं

Ankur TripathiMon, 01 Mar 2021 06:00 AM (IST)

प्रयागराज, जेएनएन। दिल की धड़कन ताउम्र बनाए रखना हम सभी की प्राथमिकता होनी चाहिए। लेकिन, अब अमूमन ऐसा होता नहीं। युवा वर्ग तो नशा, मानसिक तनाव और अत्यधिक जॉबवर्क के चलते दिल की बीमारी के शिकार हो रहे हैं तो 40 साल से अधिक उम्र के लोग, खासकर वृद्धजन भी किसी न किसी वजह से हार्ट अटैक की चपेट में आ जा रहे हैं। बीमारी की अवस्था में खुद को कैसे संभालें, किस तरह से अपने शरीर को फिट रखें कि दिल पर कोई विपरीत असर न पडऩे पाए। इन तमाम जिज्ञासा का निदान रविवार को दैनिक जागरण के साप्ताहिक कार्यक्रम 'हेलो डाक्टर में हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. राजपाल प्रजापति ने लोगों के सवाल आने पर किए। प्रस्तुत है सवाल और जवाब के प्रमुख अंश। 

सवाल : साल भर पहले चोट लगी थी। अब हार्ट में दिक्कत महसूस हो रही है। सुबह उठकर चलने पर सांस फूलती है। जांच कराई तो पता चला कि हार्ट की पंपिंग 30 के आसपास है। बताइए क्या करें।

गोपाल सिंह, जारी

जवाब :  आपके हार्ट की पंपिंग कमजोर है। सामान्य पंपिंग 50 से 55 होनी चाहिए आप बता रहे हैैं कि 30 के आसपास है। ब्लाकेज की संभावना है। एंजियोग्राफी कराइए पता चलेगा कि क्या दिक्कत है। 

सवाल : दिल की धड़कन तेज हो जाती है। डाक्टर को दिखाया है। उन्होंने आपरेशन के लिए बोला है। आपरेशन से डर लगता है।

अमर बहादुर, छतनाग झूंसी

जवाब : आप जो भी लक्षण बता रहे हैं वह हार्ट के ऊपर से नीचे के चेंबर तक एक अलग रास्ता बनने से होता है। यह दवा से ठीक हो जाता है। ज्यादा दिक्कत होने पर मेडिकल की भाषा में इसे आरएफए कहते हैं। इसके तहत उस अतिरिक्त रास्ते को जलाकर ट्रीट किया जाता है। परेशान न हों, यह बीमारी आसानी से सही हो जाती है।

सवाल : मैं 23 साल का हूं। कभी खेल में दौड़ भाग कर लेता हूं या ज्यादा पैदल चलता हूं तो हार्ट में दर्द होता है। 

राज केसरवानी, लालगोपालगंज

जवाब : आपकी उम्र अभी काफी कम है। हार्ट की बीमारी की संभावना काफी कम लगती है। फिर भी आप ईसीजी, बीपी की जांच करा लीजिए। टीएमटी जांच भी कराई जा सकती है। आपकी हिस्ट्री ब्लाकेज की ओर इशारा कर रही है।

सवाल : हार्ट, शुगर और बीपी के मरीजों को कोरोना का टीका लगवाना चाहिए या नहीं।

सोंटू यादव, नार्थ मलाका

जवाब : कोरोना का टीका रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए है। इसमें हिचकिचाएं नहीं। हो सकता है कि पहले से बीमार लोगों को टीका लगवाने पर थोड़ा दर्द महसूस हो। लेकिन टीकाकरण स्थल पर आधे घंटे तक आब्जर्व करने की व्यवस्था भी रहती है।

सवाल : हमारी चाची 68 साल की हैं। जब कोई बहुत खुशी या गम की बात सुन लेती हैं तो उनके सीने में दर्द महसूस होने लगता है, धड़कन बढ़ जाती है। क्या दिक्कत हो सकती है।

हेमंत पांडेय, पुराना कटरा

जवाब : हो सकता है कि इन्हें एंजाइना पेन होता हो। एक बार इनकी ईसीजी, शुगर, गुर्दा या कोलेस्ट्राल की जांच करा लें। बीमारी फिर भी नहीं समझ में आती है तो एंजियोग्राफी कराई जा सकती है।

सवाल : सर, कम उम्र में दिल की धड़कन को कैसे फिट रखें।

निव्यांशी विश्वकर्मा, सोहबतियाबाग

जवाब  : दिल की धड़कन को फिट रखने के लिए खानपान पर विशेष ध्यान देना चाहिए। हरी सब्जी ज्यादा खाएं, ज्यादा तली भुनी चीजों से परहेज करें। प्रत्येक दिन कम से कम 45 मिनट तक तेज चाल से पैदल चलें।

सवाल : हार्ट की बीमारी के शुरुआती लक्षण क्या हैं।

नरेंद्र कुशवाहा, बारा

जवाब : मेहनत वाले कार्य करने पर सीने में दर्द महसूस होना, सीने में दिल के पास भारीपन महसूस होना शुरुआती लक्षण हैं। लेकिन अगर पेट में गैस बनने से सीने में दर्द होता है तो उसे नजरअंदाज न करें। स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल आकर दिखाएं। जांच होने पर पता चलेगा कि आपको क्या दिक्कत है। 

सवाल : मेरे बेटे को हार्ट अटैक आता है। उसका खानपान कैसा रखें यह बताइए। कभी-कभी उसका जी मिचलाता है।

नईम, हेतापट्टी बहादुरपुर

जवाब : यदि उसे ब्लड प्रेशर की बीमारी भी है तो उसकी दवा नियमित रूप से खानी होगी। जी मिचलाने की समस्या है तो जांच करके देखना होगा। फिलहाल उसे हरी सब्जियां, अनाज ज्यादा खिलाएं। तली भुनी चीजों से परहेज करना होगा।

सवाल : मेरी भाभी के शरीर में चुनचुनाहट होती है। हाथ पैर में खुजली भी होती है और सिर में दर्द भी होता है।

मुकेश कुमार, प्रयाग

जवाब : यह एलर्जी से हो सकता है। माइग्रेन भी होने के आसार हैं। हालांकि यह जांच करके देखना पड़ेगा। इनकी एक बार जांच जरूर करा लीजिए। ज्यादा दिक्कत है तो किसी न्यूरोलॉजिस्ट को दिखाइए।

सवाल : मेरे नाना काफी वृद्ध हैं। उनकी पल्स रेट कम रहती है। डाक्टर ने पेसमेकर लगाने के लिए कहा है लेकिन इसे लगवाने में वे सक्षम नहीं हैं। क्या बिना पेसमेकर के काम नहीं चलेगा।

शुभम तिवारी, सिविल लाइंस

जवाब : आपके नाना जी को सांस फूलने की बीमारी हो सकती है। धड़कन उसी वजह से कम होती है। पेसमेकर तो लगवाना ही होगा। इसमें ज्यादा बड़ा आपरेशन भी नहीं होता है। उनका इलाज करवाएं।

सवाल : मैं 60 साल का हूं। सांस फूलती है। सांस लेने में दिक्कत महसूस होती है।

विकास मिश्रा, प्रयाग

जवाब : आपके फेफड़े में कोई दिक्कत लग रही है। चेस्ट फिजीशियन को दिखाएं। ठंड व एलर्जी से बचें और इनहेलर व दवाएं नियमित रूप से लेते रहें।

सवाल: सांस ज्यादा फूलती है। 10-12 सीढ़ी चढ़ लेते हैं या ज्यादा साइकिल चलाने से भी सांस फूलने लगती है। जबकि मुझे शुगर व ब्लड प्रेशर भी नहीं है।

दुर्गेश कुमार श्रीवास्तव, हनुमानगंज

जवाब : ज्यादा मेहनत करने पर सांस फूलती है तो ऐसे केस में एक बार ईसीजी कराकर देख लें। आपकी कार्डियोग्राफी भी होनी आवश्यक है। एसआरएन के कार्डियोलॉजी विभाग में आकर संपर्क करें।

युवाओं के लिए खास बात

-जीवन शैली में बदलाव करते हुए फास्ट फूड, नशे की आदत छोड़ें।

-सुबह जल्दी सोकर उठें और नियमित रूप से व्यायाम करें।

-सिगरेट और शराब का सेवन छोड़ें

-जंक फूड से जितना हो सके परहेज करें।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.