नैनी में नारी संगठन को लेकर ससुराल पहुंची बहू ने किया हंगामा

नैनी में नारी संगठन को लेकर ससुराल पहुंची बहू ने किया हंगामा

पीडीए कॉलोनी में उस समय अफरा-तफरी मच गई जब छह माह पहले शादी हुई बहू नारी संगठन के कार्यकर्ताओं को लेकर ससुराल पहुंच हंगामा करने लगी। ससुराल वालों की सूचना पर पहुंची पुलिस दोनों पक्षों को चौकी ले आई घटों पंचायत के बाद 10 दिन बाद मौके पर पति के आने के बाद फैसला की बात कही।

Publish Date:Thu, 26 Nov 2020 09:28 PM (IST) Author: Jagran

संवाद सूत्र, नैनी : पीडीए कॉलोनी में उस समय अफरा-तफरी मच गई जब छह माह पहले शादी हुई बहू नारी संगठन के कार्यकर्ताओं को लेकर ससुराल पहुंच हंगामा करने लगी। ससुराल वालों की सूचना पर पहुंची पुलिस दोनों पक्षों को चौकी ले आई, घटों पंचायत के बाद 10 दिन बाद मौके पर पति के आने के बाद फैसला की बात कही। पति दूसरे राज्य में नौकरी करता है। चिकित्सक के बेटे की शादी छह माह पहले हुई थी। शादी के कुछ दिन बाद ही पति पत्नी में अनबन के बाद पति नौकरी करने बाहर चला गया। पत्नी मायके चली गई थी। वृद्धा आश्रम में किए गए मोतियाबिंद के ऑपरेशन

संवाद सूत्र, नैनी : आधारशिला वृद्ध आश्रम में गुरुवार को निवासरत वृद्धजनों की नेत्रों की जाच की गई। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चाका के नेत्र चिकित्सक डॉ. संगम लाल विश्वकर्मा ने नौ के मोतियाबिंद के ऑपरेशन किए। साथ ही नजर के चश्मे उपलब्ध कराए। नेत्र विकार के लिए दवाएं उपलब्ध कराई गई। आश्रम प्रबंधक सुशील श्रीवास्तव ने बताया कि ऑपरेशन के पश्चात विशेष ध्यान दिया जाएगा, जिससे आखों में संक्रमण न हो। अधिकारों के रक्षा को रहें जागरूक : एसपी यमुनापार

संवाद सूत्र, नैनी : प्रयाग विधि महाविद्यालय के सभागार में गुरुवार को राष्ट्रीय विधि दिवस पर मानवाधिकार विषयक संगोष्ठी हुई। मुख्य अतिथि पुलिस अधीक्षक यमुनापार चक्रेश मिश्र एवं विशिष्ट अतिथि मनीष शांडिल्य (आइपीएस) ने दीप प्रज्जवलित कर शुरुआत की। मुख्य अतिथि ने कहा कि मानवाधिकार के प्रति सभी को सजग रहना चाहिए। महिला सशक्तीकरण पर बल देते हुए कहा कि महिलाओं को आत्मरक्षा के लिए हमेशा सतर्क रहना चाहिए।

मनीष शाडिल्य ने दबे कुचले लोगों को उनके अधिकार के लिए जागरूक रहने को कहा। इससे पहले महाविद्यालय के प्राचार्य रामबाबू ने पाठ्यक्रमों की जानकारी और उपलब्धि बताई। स्कूल के प्रबंधक डॉ आशुतोष त्रिपाठी ने बच्चों का उत्साहवर्धन किया। संस्थान के प्रशासनिक अधिकारी धीरज मिश्र ने भी विचार व्यक्त किये। शिक्षिका श्रीमती नीति अलेक्जेंडर ने साइबर क्राइम के बारे एवं विधि के शिक्षक प्रशात पाण्डेय ने संविधान के अनुच्छेद-32 के संविधानिक उपचार बताए। संस्थान के आरके कालेज ऑफ फार्मेसी के प्राचार्य प्रो. चन्द्रशेखर सिंह, आरके स्कूल ऑफ नìसग की उप प्राचार्य विनीता तिवारी, प्रशांत पांडेय, अंजना यादव, गुरु प्रसाद द्विवेदी, अनुज शुक्ल, सुरेन्द्र, अíपता, महेन्द्र आदि उपस्थित रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.