Panchayat Chunav के दिन प्रयागराज में भाजपा नेता की हत्या की थी साजिश, जौनपुर जेल से मिली थी सुपारी

भाजपा नेता रोहित केसरी की हत्‍या की साजिश जौनपुर जेल में रची गई थी। लखनऊ एसटीएफ ने साजिश नाकाम की।

गिरफ्त में आए शूटरों से पूछताछ में पता चला है कि वह त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दिन ही रोहित को मौत के घाट उतारना चाहते थे। इसकी पूरी तैयारी हो चुकी थी। मतदान के दिन कत्ल होने पर रोहित के घरवाले यही समझते कि चुनावी रंजिश में वारदात हुई है।

Brijesh SrivastavaSat, 17 Apr 2021 08:00 AM (IST)

प्रयागराज, जेएनएन। यूपी के जौनपुर जेल से भाजपा नेता रोहित केसरी की हत्या की ऐसी साजिश रची थी कि फूलपुर इलाके में उथल-पुथल मच जाती। कानून-व्यवस्था की स्थिति खराब होने के साथ ही बवाल भी मचाने की तैयारी थी। गनीमत रही कि लखनऊ एसटीएफ ने ऐन वक्त पर शार्प शूटरों को धर दबोचा और उनकी मंशा पर पानी फेर दिया। 

कत्‍ल के बाद किसी को सिराज पर शक भी नहीं होता

गिरफ्त में आए शूटरों से पूछताछ में पता चला है कि वह त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दिन ही रोहित को मौत के घाट उतारना चाहते थे। इसकी पूरी तैयारी हो चुकी थी। मतदान के दिन कत्ल होने पर रोहित के घरवाले यही समझते कि चुनावी रंजिश में वारदात हुई है। इसके अलावा रोहित के स्वजन का संदेह सिराज पक्ष की तरफ भी नहीं जाता। इस साजिश में शामिल सिराज की बीवी और दूसरे आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद कुछ नए तथ्य भी सामने आ सकते हैं। 

लखनऊ एसटीएफ ने तीन शार्प शूटरों को किया गिरफ्तार

फिलहाल स्पेशल टॉस्क फोर्स (एसटीएफ) ने भाजपा के गंगापार ईकाई के जिला मंत्री रोहित केसरी की हत्या की साजिश का पर्दाफाश करते हुए तीन शार्प मो. शानू उर्फ वकील उर्फ लंबू, मनोज सोयरी और दिलशाद अली को गिरफ्तार किया है। कत्ल की साजिश जौनपुर जेल में बंद हत्यारोपित सिराज उर्फ सोनू ने अपने साथियों के साथ मिलकर रची थी। मामले में फूलपुर निवासी सिराज की बीवी, बाबा, आदिल व दो अन्य अभी फरार हैं। 

फूलपुर में भाजपा नेता पवन केसरी की हत्‍या हुई थी, भाई कर रहे हैं पैरवी

एसटीएफ लखनऊ यूनिट के प्रभारी डिप्टी एसपी लाल प्रताप सिंह ने बताया कि फूलपुर के लोचनगंज निवासी भाजपा नेता पवन केसरी की आठ मई 2018 की रात चुनावी रंजिश में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उस हत्याकांड में सिराज समेत 11 आरोपितों को गिरफ्तार कर पुलिस ने जेल भेजा था। कुछ दिनों बाद सिराज को नैनी जेल से जौनपुर ट्रांसफर कर दिया गया था। जबकि रोहित अपने भाई पवन के हत्यारोपितों को सजा दिलवाने के लिए पैरवी कर रहे थे। 

पवन केसरी हत्‍याकांड का आरोपित सिराज जौनपुर जेल में बंद है

इसी बीच पता चला कि जौनपुर जेल में बंद सिराज अपने मुकदमे के गवाह को मारने का षडयंत्र रच रहा है। भाड़े के हत्यारों को पांच लाख रुपये की सुपारी भी दी गई थी। तब एसटीएफ लखनऊ की टीम ने साजिश से पर्दा हटाते हुए शूटरों को धर दबोचा।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.