कांग्रेसियों ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को जन्मतिथि पर किया याद Prayagraj News

 प्रयागराज,जेएनएन : भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की 102वीं जन्मतिथि पर मंगलवार को कांग्रेसियों ने उन्हें पुष्‍प अर्पित किया। जिला व शहर कांग्रेस कमेटी की ओर से कांग्रेसियों ने उनके पैतृक आवास आनंद भवन पहुंचकर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

विश्‍व में भारत की मजबूत राष्ट्र की पहचान बनी

उत्तराखंड राज्य प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह ने कहा कि इंदिरा जी ने राष्ट्रवाद और राष्ट्रीय सुरक्षा के मूलतत्वों के रूप में आपसी सद्भाव, समानता एवं लोकतंत्र का आह्वान किया था। बांग्लादेश का निर्माण कर भूगोल बदला। इसके बाद विश्व में भारत की मजबूत मजबूत की राष्ट्र की पहचान बनी। पूर्व महापौर चौधरी जितेंद्र नाथ सिंह ने कहा कि चाहे गरीबी हटाओ का नारा रहा हो अथवा प्रीवीपर्स या बैंकों का राष्ट्रीयकरण हो, उनके सभी निर्णय आम जनता से जुड़े फायदे थे। राज्य कार्य समिति के सदस्य किशोर वाष्र्णेय ने कार्यक्रम का संचालन करते हुए कहा कि इंदिरा जा व्यक्तिगत नुकसान उठाकर भी सख्त फैसला लेने वाली नेता थीं। अध्यक्ष्ता नफीस अनवर ने किया। इस दौरान फुजैल हाशमी, हरिकेश त्रिपाठी, तस्लीम उद्दीन, संजय तिवारी, परवेज सिद्दीकी, अभय अवस्थी, अरशद अली, सत्या पांडेय, हरदेव सिंह, बाबुल त्रिपाठी, मो. असलम आदि उपस्थित रहे।

इंदिरा जी के दिखाए हुए मार्ग पर चलने की आवश्यकता

 इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्रसंघ भवन पर एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने इंदिरा गांधी के व्यक्तित्व पर चर्चा की। निवर्तमान छात्रसंघ उपाध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा आज जब विघटनकारी शक्तियां देश की एकता और अखंडता को चुनौती दे रहीं हैं, ऐसे समय में इंदिरा जी के सशक्त नेतृत्व की याद आती है। एनएसयूआई जिलाध्यक्ष पृथ्वीप्रकाश तिवारी ने कहा सर्वधर्म सम्भाव के साथ हमारे देश की एकता अक्षुण्य रहे, इसके लिए इंदिरा जी के दिखाए हुए मार्ग पर चलने की आवश्यकता है। इस दौरान सत्यम कुशवाहा, दुर्गेश सिंह, हरिकेश, रोहित यादव, कौशिक सिंह, राहुल यदुवंशी, अजय बागी, मो. जैद, अक्षय यादव, धीरन मुंडा, पंकज, विनीत, सौरभ कुमार, रंधेश राणा आदि छात्र मौजूद रहे। इसके अलावा जनता दल युनाइटेड की ओर से भी इंदिरा गांधी व रानी लक्ष्मीबाई को श्रद्धांजलि दी गई। श्रद्धांजलि देने वालों में प्रशांत सिंह, विपिन, विनोद, नीरज सिंह, विजय सिंह आदि रहे।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.