प्रतापगढ़ में कांग्रेस-भाजपा के विवाद ने तूल पकड़ा, प्रयागराज की सड़कों पर उतरे कांग्रेसी, दिया धरना

प्रतापगढ़ में कांग्रेस-भाजपा विवाद पर कांग्रेस के प्रयागराज जिलाध्यक्ष ने कहा कि राजनीतिक विद्वेष के कारण पूर्व राज्यसभा सदस्‍य प्रमोद तिवारी और विधायक आराधना मिश्रा तथा अन्य कार्यकर्ताओं के खिलाफ लिखा गया मुकदमा पूर्णतया झूठ पर आधारित है। उसमें सांसद संगम लाल द्वारा घटनाक्रम की गलत बयानबाजी की गई है।

Brijesh SrivastavaTue, 28 Sep 2021 08:24 AM (IST)
प्रतापगढ़ में कांग्रेस-भाजपा के विवाद का शोर प्रयागराज तक पहुंच गया है। प्रयागराज में कांग्रेसजनों ने धरना दिया।

प्रयागराज, जागरण संवाददाता। प्रतापगढ़ में किसान कल्याण मेले में अखिल भारतीय कांग्रेस कार्य समिति के सदस्य प्रमोद तिवारी और उनकी विधायक पुत्री आराधना मिश्रा 'मोना' की मौजूदगी में भारतीय जनता पार्टी के सांसद संगम लाल गुप्ता के साथ कथित मारपीट का मामले ने तूल पकड़ गया है। कांग्रेस पार्टी के नेता तथा कार्यकर्ता इसके विरोध में सड़कों पर उतरे। मामले में भाजपा सांसद संगमलाल गुप्‍ता की तहरीर पर प्रमोद तिवारी, व‍िधायक आराधना मिश्र समेत 77 लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में एफआइआर दर्ज है। अब इसके विरोध में आज यानी मंगलवार को कांग्रेसजनों ने प्रयागराज के सिविल लाइंस स्थित पत्थर गिरिजाघर पर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान नारेबाजी भी की गई।

भाजपा सांसद से मारपीट की घटना में कांग्रेस नेताओं पर केस दर्ज है

प्रतापगढ़ के भाजपा सांसद संगम लाल गुप्‍ता ने आरोप लगाया है कि प्रमोद तिवारी और उनकी विधायक पुत्री आराधना मिश्रा की मौजूदगी में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने उनके साथ अभद्रता और मारपीट की घटना को अंजाम दिया। प्रमोद तिवारी, आराधना मिश्रा पर केस दर्ज होने के खिलाफ जिला शहर कांग्रेस के सैकड़ों पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं ने हीरा हलवाई चौराहा स्थित पुलिस महानिरीक्षक कार्यालय पर पहुंचकर आइजी रेंज केपी सिंह को दो सूत्रीय ज्ञापन सौंपकर पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कराए जाने की मांग की है।

प्रमोद तिवारी व आराधना पर केस झूठ पर आधारित है : कांग्रेस जिलाध्‍यक्ष

जिलाध्यक्ष अरुण तिवारी और सुरेश यादव ने कहा कि राजनीतिक विद्वेष के कारण पूर्व राज्यसभा सदस्‍य प्रमोद तिवारी और विधायक आराधना मिश्रा तथा अन्य कार्यकर्ताओं के खिलाफ लिखा गया मुकदमा पूर्णतया झूठ पर आधारित है। उसमें सांसद संगम लाल द्वारा घटनाक्रम की गलत बयानबाजी की गई है।

एकतरफा कार्रवाई शर्मनाक है : शहर अध्‍यक्ष

शहर अध्यक्ष नफीस अनवर ने कहा कि सरकार के दबाव में एकतरफा कार्रवाई शर्मनाक है। कांग्रेसियों ने आइजी रेंज को ज्ञापन देकर पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कराए जाने की मांग की है। ज्ञापन देने वालो में अरुण तिवारी, सुरेश यादव, नफीस अनवर, विजय प्रकाश, सुधाकर तिवारी, फुजैल हाशमी, हरिकेश त्रिपाठी, अशोक सिंह, संजय तिवारी, वसीम अंसारी, मुकुंद तिवारी, किशोर वार्ष्णेय, तस्लीम उद्दीन, हसीब अहमद, तलत अज़ीम, गौरव पाण्डेय, रितेश राणा, डाक्‍टर दिनेश सोनी, विवेक पांडेय, इश्तेयाक अहमद, रिंकू तिवारी, राजकुमार शुक्ला, प्रदीप नारायण, जावेद उर्फी, इरफानउल हक, कैफ वारसी, नसीम हाशमी समेत आदि लोग मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.