बेटा हमारे कब्जे में है, फिरौती दो वरना मार देंगे, प्रयागराज में धमकी के कुछ घंटे बाद घर आ गया बालक

रात में वह किसी तरह अपहर्ताओं के चंगुल से छूटकर भागा और घर पहुंच गया।

राकेश फूलपुर के सुदी का पूरा मेंं महाविद्यालय का संचालन करते हैं। उनका पुत्र प्रिंस मौर्य उर्फ राजा त्रिवेणी नगर स्थित सुमन इंटर कॉलेज में कक्षा आठ में पढ़ता है। मंगलवार की दोपहर तकरीबन ढाई बजे वह साइकिल पर घ से निकला। वह मोबाइल फोन भी साथ ले गया था।

Ankur TripathiTue, 20 Apr 2021 10:55 PM (IST)

प्रयागराज, जेएनएन। नैनी के  त्रिवेणी नगर मोहल्ले से मंगलवार दोपहर घर से साइकिल और मोबाइल लेकर निकले किशोर का कुछ लोगों ने कथित तौर पर अगवा करने के बाद 50 हजार फिरौती की मांग की। घटना से घर में कोहराम मच गया। पिता ने नैनी पुलिस को तहरीर दी मगर रात में वह किसी तरह अपहर्ताओं के चंगुल से छूटकर भागा और घर पहुंच गया। हालांकि पुलिस को लग रहा है कि अपहरण की कहानी गढ़ी गई थी। 


मोबाइल लेकर साइिकल पर निकला था बालक

फूलपुर क्षेत्र निवासी राकेश कुमार मौर्या अपने दो बच्चे और पत्नी के साथ नैनी के त्रिवेणी नगर मोहल्ले में रहते हैं। राकेश फूलपुर के सुदी का पूरा मेंं महाविद्यालय का संचालन करते हैं। उनका पुत्र  प्रिंस मौर्य उर्फ राजा त्रिवेणी नगर स्थित सुमन इंटर कॉलेज में कक्षा आठ में पढ़ता है। मंगलवार की दोपहर तकरीबन ढाई बजे वह साइकिल पर घ से निकला। वह मोबाइल फोन भी साथ ले गया था। काफी देर तक उसके वापस घर न आने पर परिवार में बेचैनी बढ़ गई। घर के लोगों ने उसकी खोजबीन शुरू की। उसी दौरान प्रिंस के मोबाइल से उसके पिता राकेश कुमार के नंबर पर फोन कर 50 हजार रुपए की फिरौती मांगी गई। पैसे नहीं मिलने और पुलिस को सूचना देने पर बच्चे की हत्या करने की भी बात कही गई। 


घबरा गए परिवार के लोग, दी पुलिस को खबर

फोन पर फिरौती की डिमांड और धमकी की बात सुनते ही घर मेंं कोहराम मच गया। राकेश कुमार ने तत्काल घटना की जानकारी पुलिस को दी। पिता के द्वारा घटना की लिखित सूचना नैनी कोतवाली को दी गई । पुलिस मामले में जांच पड़ताल कर रही। सीओ करछना राजेश यादव का कहना है कि अपहरणकर्ता अगवा प्रिंस के मोबाइल नंबर से दो बार फोन कर उसके पिता से फिरौती मांगी तो पुलिस ने जांच शुरू कर दी।

अपहरणकर्ताओं की चंगुल से बचकर भागा छात्र

इसके बाद रहस्यमय ढंग से त्रिवेणी नगर मोहल्ले से अगवा  प्रिंस रात करीब दस बजे अपहरणकर्ताओं की चंगुल से बचकर भाग आया। पुलिस उससे पूछताछ कर रही। उसने पुलिस को बताया कि उसे बाइक पर जबरन बैठा कर दो लोग ले गए और एक कमरे में बंद कर दिया था। वे कहीं चले गए थे तभी उस मकान का मालिक आ गया। उसने दरवाजा खोल दिया, जिससे वह मौका पाकर वहां से भाग आया। 

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.