बीडीओ और पूर्व प्रधान के पुत्र पर गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज, प्रधानपति की मौत का है मामला

मांडा के थाना प्रभारी अवन कुमार दीक्षित का कहना है कि विवाद के मामले में आरोपित विजय प्रकाश उर्फ राकेश मिश्रा का गुरुवार को ही शांतिभंग में चालान कर दिया गया था। उसने शाम तक उसने जमानत ले ली थी। गैर इरातन हत्या का मामला दर्ज किया गया।

Brijesh SrivastavaPublish:Sat, 04 Dec 2021 11:05 AM (IST) Updated:Sat, 04 Dec 2021 11:05 AM (IST)
बीडीओ और पूर्व प्रधान के पुत्र पर गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज, प्रधानपति की मौत का है मामला
बीडीओ और पूर्व प्रधान के पुत्र पर गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज, प्रधानपति की मौत का है मामला

प्रयागराज, जागरण संवाददाता। प्रयागराज में मांडा के कनेवरा ग्राम पंचायत के प्रधानपति रंगनाथ मिश्रा की मौत के मामले ने तूल पकड़ लिया है। खंड विकास अधिकारी शिव गोविंद पटेल और पूर्व प्रधान के बेटे विजय प्रकाश उर्फ राकेश मिश्रा के खिलाफ पुलिस ने गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया। आश्चर्य की बात यह है कि पुलिस ने नामजद किए गए राकेश मिश्रा का गुरुवार को ही शांतिभंग में चालान कर दिया था। उसने जमानत ले ली और गायब हो गया। अब पुलिस उसकी तलाश कर रही है।

यह था पूरा मामला

खंड विकास अधिकारी मांडा के कार्यालय में गुरुवार को करीब एक बजे कनेवरा ग्राम पंचायत के पूर्व प्रधान लाल बिहारी मिश्रा के बेटे विजय प्रकाश उर्फ राकेश मिश्रा और ग्राम प्रधान कलावती देवी के पति रंगनाथ मिश्र के बीच पांच लाख रुपये के भुगतान को लेकर विवाद हो गया था। इस दौरान प्रधान पति रंगनाथ मिश्रा बेहोश होकर गिर पड़े थे। कुछ देर बाद उनकी मौत हो गई थी। मृतक के भाई शेषनाथ मिश्रा का आरोप है कि पूर्व प्रधान की ओर से फर्जी ढंग से कराए गए कार्यों के पांच लाख रुपये के भुगतान को लेकर उनका बेटा विजय प्रकाश आए दिन धमकाता था। इसकी शिकायत 27 अक्टूबर को रंगनाथ मिश्रा ने थाने में की थी।

बीडीओ व पूर्व प्रधान के पुत्र पर यह लगा है आरोप

आरोप है कि खंड विकास अधिकारी ने अपने कार्यालय में भुगतान के लिए रंगनाथ पर दबाव बनाया। ऐसा न करने पर खाता सीज करने का आदेश दे दिया। आरोप है कि इन्कार करने पर पूर्व प्रधान के बेटे ने अपशब्द कहते हुए रंगनाथ को धक्का मार दिया। इससे वह जमीन पर गिर गए थे। घटनास्थल पर मौजूद कनेवरा गांव के ही लवकुश मिश्रा और अन्य लोग उन्हें अस्पताल ले गए थे।

पूर्व प्रधान पुत्र जमानत लेकर है फरार, पुलिस कर रही तलाश

मांडा के थाना प्रभारी अवन कुमार दीक्षित का कहना है कि विवाद के मामले में आरोपित विजय प्रकाश उर्फ राकेश मिश्रा का गुरुवार को ही शांतिभंग में चालान कर दिया गया था। उसने शाम तक उसने जमानत ले ली थी। गैर इरातन हत्या का मामला दर्ज किया गया। इसलिए फिर से उसकी तलाश की जा रही है। वहीं, खंड विकास अधिकारी के बारे में पता चला है कि वह दो दिन के अवकाश पर चले गए हैं। हालांकि, उनके बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। रंगनाथ मिश्रा की मौत किन कारणों से हुई है, इसका पता पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट होगा।

भुगतान के लिए किसी नेता का था दबाव

रंगनाथ मिश्रा जब भुगतान करने के लिए तैयार नहीं हुए तो खंड विकास अधिकारी ने खाता सीज करने का आदेश दे दिया था। लोगों का कहना है कि भुगतान कराने के लिए खंड विकास अधिकारी के ऊपर किसी बड़े नेता का दबाव पड़ रहा था। इसी दबाव के चलते वह मौजूदा प्रधान पर दबाव डालने लगे थे। 10 दिन पहले भी खंड विकास अधिकारी ने मौखिक रूप से प्रधान का खाता सीज करने का निर्देश दिया था, जबकि मौजूदा प्रधान कराए गए कार्यों को फर्जी बताते हुए जांच की मांग कर रहे थे।