top menutop menutop menu

Ayodhya Ram Mandir : धर्मगुरु बोले- श्रीराम के नाम पर जलाएं दीपक, प्राणों की आहुति देने वालों को करें नमन Prayagraj News

Ayodhya Ram Mandir : धर्मगुरु बोले- श्रीराम के नाम पर जलाएं दीपक, प्राणों की आहुति देने वालों को करें नमन Prayagraj News
Publish Date:Wed, 05 Aug 2020 03:41 PM (IST) Author: Brijesh Srivastava

प्रयागराज, जेएनएन। सदियों की प्रतीक्षा के बाद आज मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम की जन्मस्थली अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंत्रोच्चार की कर्णप्रिय गूंज के बीच भूमि पूजन किया। पूजन के बाद श्रीराम मंदिर निर्माण का सिलसिला आरंभ हो गया। इस पावन घड़ी को यादगार बनाने के लिए हर सनातनी ने विशेष तैयारी की। घरों में पूजा-पाठ के साथ भजन-कीर्तन का आयोजन हुआ। संतों ने इस पल को यादगार बनाने के लिए शाम को श्रीराम के नाम पर दीपक जलाने व श्रीराम मंदिर आंदोलन में प्राणों की आहुति देने वाले संतों व कारसेवकों को नमन करने की अपील की है।

हर सनातनी अपने घरों में जलाए दीपक : स्‍वामी वासुदेवानंद

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के सदस्‍य जगद्गुरु स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती कहते हैं कि प्रभु श्रीराम के मंदिर निर्माण होना राष्ट्र व हिंदू जनमानस के लिए बड़ी उपलब्धि है। हर सनातनी व मानवता पर विश्वास रखने वाले व्यक्ति अपने घर में दीपक जलाकर श्रीराम व हनुमान जी की स्तुति करें।

मंदिर आंदोलन में प्राणों की आहुति देने वालों को नमन करें : स्‍वामी ओंकारानंद

प्रयाग पीठाधीश्वर जगद्गुरु स्वामी ओंकारानंद सरस्वती ने कहा कि प्रभु श्रीराम के मंदिर निर्माण का कार्य निर्विघ्नता से संपन्न हो गया। सभी लोग हनुमान चालीसा व सुंदरकांड का पाठ करें। दीपक जलाकर मंदिर आंदोलन में प्राणों की आहुति देने वालों को नमन करें।

 

पूजा घर में पांच दीपक जलाएं : घनश्‍यामाचार्य महाराज

जगद्गुरु घनश्यामाचार्य जी महाराज कहते हैं कि मैं आज उन संतों व कारसेवकों को नमन कर रहा हूं, जिन्होंने श्रीराम मंदिर आंदोलन में अपने प्राणों की आहुति दी है। हर सनातनी उनके नाम से अपने पूजा घर में कम से कम पांच दीपक जलाएं।

राष्ट्र की दशा आज के बाद बदल जाएगी : विश्वस्वरूप ब्रह्मचारी

भारत रक्षा मंच के प्रभारी विश्वस्वरूप ब्रह्मचारी ने कहा कि आज कलियुग में प्रभु श्रीराम का राज्याभिषेक होने जैसा पल है। राष्ट्र की दशा आज के बाद बदल जाएगी। सनातनी उत्सव मनाएं। व्रत रखकर प्रभु श्रीराम, माता सीता व हनुमान जी का पूजन करें।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.