कोरोना कर्फ्यू में सहूलियत मिलते ही भूले वायरस से बचाव का नियम-कायदा, किराना समेत अन्य दुकानों पर लगी रही भीड़

छ दुकानदार बिना मास्क के ही सामान बेच रहे थे और बाहर खड़े लोग भी बिना मास्क के थे। इसी बीच पुलिस की टीम नियम का पालन करने की बात हैंड लाउडर से एनांउस करते हुए निकली तो सभी ने मास्क लगा लिया लेकिन शरीरिक दूरी बनाने से बचते रहे।

Ankur TripathiWed, 12 May 2021 04:51 PM (IST)
ग्राहक लापरवाह नजर आए तो दुकानदारों ने भी नियमों की अनदेखी की

प्रयागराज, जेएनएन। कई दिनों से लागू कोरोना कर्फ्यू में प्रशासन ने थोड़ी ढील क्या दी लोग नियम-कायदा ही भूल गए। यह भी भूल गए कि कोरोना की दूसरी लहर अभी थमी नहीं है और तीसरी लहर का खतरा बना है। दुकानों पर ऐसे टूट पड़े जैसे कुछ ही देर में सब खत्म हो जाएगा। भीड़ उमड़ी तो न शारीरिक दूरी का पालन किया गया और न तो मास्क का ही ख्याल रहा। कोविड गाइड लाइन की धज्जियां उड़ती रहीं। खरीदार तो निकले ही, बेवजह घूमने की संख्या में भी इजाफा दिखाई दिया। ग्राहक लापरवाह नजर आए तो दुकानदारों ने भी नियमों की अनदेखी की। इससे संक्रमण बढऩे का खतरा पैदा हो गया और प्रशासन को इस बारे में फिर गंभीरता से सोचना होगा। 

पुराने शहर में ज्यादा बेवजह निकल रहे लोग

जिला प्रशासन ने किराना और राशन दुकानदारों को दुकान खोलने की अनुमति इस शर्त के साथ दी थी कि सभी लोग कोविड गाइड लाइन का पालन करेंगे। मंगलवार औऱ बुधवार को सुबह होते ही चौक, घंटाघर, नखास कोहना, रानीमंडी, शाहगंज, खुल्दाबाद, नुरुल्लाह रोड समेत कई मोहल्ले में दुकानें खुलते ही ग्राहक पहुंचने लगे तो भीड़ लगने लगी। कुछ दुकानदार बिना मास्क के ही सामान बेच रहे थे और बाहर खड़े लोग भी बिना मास्क के थे। इसी बीच पुलिस की टीम नियम का पालन करने की बात हैंड लाउडर से एनांउस करते हुए निकली तो सभी ने मास्क लगा लिया, लेकिन शरीरिक दूरी बनाने से बचते रहे।


सेक्टर मजिस्ट्रेट ने काटा चालान तो हुआ हंगामा
बहादुरगंज मोहल्ले में उस वक्त हंगामा मच गया, जब एक किराना दुकानदार का मास्क न लगाने पर सेक्टर मजिस्ट्रेट ने चालान काट दिया। कोविड नियमों का पालन कराने के लिए सेक्टर मजिस्ट्रेट पैदल गश्त कर रहे थे। तभी उन्होंने देखा कि किराना दुकानदार नियम का उल्लंघन कर रहा है। तब उन्होंने अपने मोबाइल में फोटो खींचते हुए वीडियो बनाया। यह देख दुकानदार भड़क गया और हंगामा करने लगा। खबर पाकर पुलिस भी पहुंच गई और फिर दुकानदार को समझाते हुए एक हजार रुपये का शमन शुल्क वसूल किया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.