ठेकेदार के कत्ल में पिस्टल समेत साथी गिरफ्तार, एडीएम सिटी के पेशकार को पकड़ने पर भड़के कर्मचारी

गुरुवार दोपहर राजेश यादव को पकड़ लिया गया। फरार महेंद्र पर दबाव बनाने के लिए पुलिस ने एडीएम सिटी के पेशकार नरेंद्र यादव को हिरासत में लिया तो साथी कर्मचारी भड़क उठे और कलेक्ट्रेट परिसर में जुटकर नारे लगाए। बताया जा रहा है कि नरेंद्र फरार महेंद्र का रिश्तेदार है।

Ankur TripathiThu, 02 Dec 2021 02:12 PM (IST)
एडीएम सिटी के पेशकार नरेंद्र यादव को हिरासत में लिया तो साथी कर्मचारियों ने विरोध प्रदर्शन किया।

प्रयागराज, जेएनएन। प्रयागराज शहर में बुधवार रात मेडिकल चौराहा के निकट माडल शाप के बाहर अतरसुइया में रहने वाले ठेकेदार बच्चा यादव की रात गोलियां मारकर हत्या करने के मामले में उनके दो साथियों को ही नामजद अभियुक्त बनाया गया है। पुलिस ने एक आरोपित राजेश यादव को गुरूवार दोपहर पकड़ लिया जबकि दूसरा मुल्जिम महेंद्र यादव अभी फरार है। घटना में पुलिस ने एडीएम सिटी के पेशकार नरेंद्र यादव को हिरासत में लिया तो साथी कर्मचारियों ने विरोध प्रदर्शन किया। इस वारदात को नगर निगम में साथ ठेकेदारी करने वाले साथियों ने पैसों के विवाद में अंजाम दिया था। घटना के वक्त तीनों शराब पी रहे थे तभी नशे में टशन हो गई।

मेडिकल स्टोर में बैठकर टकरा रहे थे जाम और फिर मारी गोलियां

अब तक की जांच में पता चला है कि अतरसुइया इलाके में बाबाजी का बाग निवासी बच्चा यादव (40) की दोस्ती चांदपुर सलोरी के महेंद्र यादव और अशोक नगर के राजेश यादव से थी। तीनों ने एक फर्म बना रखी थी और एक साथ नगर निगम में ठेकेदारी करते थे। वे तीनों पिछले करीब तीन साल से रात आठ बजे के बाद मेडिकल चौराहे के पास माडल शाप के निकट माडल शाप में आते रहे हैं। यहां शराब पीने के बाद बगल में मेडिकल स्टोर में बैठते थे। मेडिकल स्टोर संचालक तीनों को जानता था। बुधवार रात आठ बजे बच्चा, महेंद्र और राजेश माडल शाप पर पहुंचे। कुछ देर बाद शराब के नशे में धुत तीनाें मेडिकल स्टोर पर पहुंचे और वहां बैठकर शराब पीने लगे। इसी दौरान तकरीबन पौने नौ बजे उन तीनों में किसी बात को लेकर विवाद हो गया। फिर फायरिंग होने लगी। एक के बाद एक पांच गोली बच्चा के शरीर में उतार दी गई। फायरिंग से अफरातफरी मच गई। हर कोई इधर-उधर भागने लगे। दुकानदार दुकान बंद कर भाग निकले। महेंद्र और राजेश यादव भी वहां से भाग निकले।

पेशकार को पकड़ने पर विरोध प्रदर्शन

कुछ ही मिनट बाद जार्जटाउन पुलिस घटनास्थल पर पहुंची तो वहां बच्चा यादव खून से लथपथ पड़ा था। उसे उठाकर एसआरएन अस्पताल ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने बताया कि उसकी सांस थम चुकी है। एसएसपी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी, एसपी सिटी समेत कई अधिकारी वहां पहुंचे। मृतक के परिवार के लोग भी आ गए। घरवालों ने  बताया कि प्रतिदिन बच्चा इन्हीं दोनों के साथ जाते थे। एसपी सिटी दिनेश सिंह का कहना है कि तीनों में पुराना याराना था। शराब के नशे में उनके बीच विवाद हुआ। महेंद्र और राजेश के पास लाइसेंसी पिस्टल है और दोनों ने पिस्टल निकालकर फायरिंग कर दी। घटना के पीछे रुपये के लेन-देन की बात सामने आई है। पुलिस ने रात भर छापेमारी की। गुरुवार दोपहर राजेश यादव को पकड़ लिया गया। फरार महेंद्र पर दबाव बनाने के लिए पुलिस ने एडीएम सिटी के पेशकार नरेंद्र यादव को हिरासत में लिया तो साथी कर्मचारी भड़क उठे और कलेक्ट्रेट परिसर में जुटकर नारे लगाए। बताया जा रहा है कि नरेंद्र फरार महेंद्र के रिश्तेदारी में है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.