Prayagraj Weather Update : रिमझिम बारिश से मौसम हुआ सुहावना, उमस से मिली राहत, जानें आज कैसा रहेगा मौमस

प्रयागराज में हो रही बारिश के कारण उमस भरी गर्मी से लोगों को राहत मिली है।
Publish Date:Tue, 22 Sep 2020 10:35 AM (IST) Author: Brijesh Srivastava

प्रयागराज, जेएनएन। दो दिन से मौसम में बदलाव आया है। वरना तो इसके पूर्व सूर्य की तेज किरणें और उमस के साथ गर्मी से शहर के लोग बेहाल थे। कल यानी सोमवार की दोपहर से आसमान में जो बादल छाए तो आज सुबह तक नहीं हटे। सारी रात और सुबह से अभी तक रुक-रुककर कभी रिमझिम तो कभी झमाझम बारिश हो रही है। मौसम पूरी तरह से सुहावना हो गया है। आज दिन भर बारिश होने की मौसम विभाग ने संभावना जताई है।

बादल तो आसमान पर उमड़ते-घुमड़ते थे लेकिन बारिश नहीं हो रही थी

पितृपक्ष के दिन बूंदाबांदी के बाद बादलों की उमड़ घुमड़ हो तो रही थी,लेकिन वह बरस नहीं रहे थे। सोमवार की दोपहर तक सूर्य की तल्‍खी थी लेकिन इसके बाद आसमान में काले कजरारे बदरा ने घेरेबंदी की और लगभग आधे घंटे तक झूम कर बरसे। इसके बाद बूंदाबांदी होती रही। सड़क पर गुजर रहे राहगीरों ने जहां तहां रुक कर खुद को भीगने से बचाया। रात 10 बजे बारिश का एक और दौर आया।

पसीजे इंद्रदेव तो होने लगी बारिश

उमस से बेहाल शहरियों को सोमवार दोपहर और रात में हुई बारिश ने राहत दी। अनुमान है कि मंगलवार की सुबह से भी रुक-रुककर बारिश हो रही है, पूरे दिन भर बारिश की संभावना है। धान की फसल के लिए यह बारिश फायदेमंद मानी जा रही है। बारिश से मौसम का मिजाज बदल गया है। अधिकतम तापमान सोमवार को 36.3 डिग्री सेल्सियस रहा। यह रविवार के मुकाबले तीन डिग्री सेल्सियस कम था। न्यूनतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ। आद्रता रविवार की सुबह 88 व शाम पांच बजे 89 थी।

मानसून की सक्रियता सितंबर के अंत तक

मौसम विभाग ने दो दिन पहले ही अगले कुछ दिनों तक बारिश का अनुमान जताया था। माना जा रहा है कि मानसून अब विदाई बेला में आ गया है। इसलिए यह बारिश हो रही है। प्रयागराज और उसके आसपास के जिलों में मानसून की सक्रियता सितंबर के अंत तक मानी जाती है।

बारिश से मिली राहत, सूख रही धान की फसलों में आई जान

सोमवार दोपहर तेज हवा के साथ झमाझम बारिश हुई जिससे किसानों के चेहरे खिल उठे और लोगों को गर्मी व उमस से राहत मिली। काफी दिनों से बारिश न होने पर धान की फसल सूख रही थी। फाफामऊ क्षेत्र के हरषू प्रसाद मिश्र, बृजमंगल सिंह, शंकर लाल पटेल, ननकऊ शर्मा, दूधनाथ पटेल आदि किसानों का कहना है कि बारिश होने के चलते धान की बालियां जल्दी बाहर निकल आएंगी और बढिय़ा उत्पाद होने की उम्मीद है।

 

बारिश से बिजली की भी समस्‍या

बारिश के कारण शहर की बिजली आपूर्ति पर भी प्रभाव पड़ा है। रुक-रुककर हो रही कभी रिमझिम तो कभी मूसलधार बारिश से लोकल फाल्‍ट की समस्‍या अधिक हो गई है। इससे आपूर्ति सुनिश्चित नहीं हो पा रही है। कई मोहल्‍लों में दिन भर में चार से पांच बार बिजली कटौती की जा रही है। बिजली कटौती से लोगों को और भी दिक्‍कत हो रही है। बिजली कटौती से पेयजल की भी समस्‍या कई इलाकों में है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.