घर लौट रहे लोगों की गाड़ी रोककर कार सवार अपराधियों ने पीटा और लूटा, कौशांबी पुलिस कर रही तलाश

प्रयागराज में सरेशाम व्यापारी से लूट की वारदात के बाद कौशांबी में भी सरेराह गाड़ी रोककर लोगों को पीटने के साथ ही सराफा व्यापारी से लूटपाट की गई। हमले में व्यापारी को चोट भी पहुंची है। पुलिस के आने तक में लुटेरे फरार हो गए। घायल व्यापारी अस्पताल में है

Ankur TripathiFri, 11 Jun 2021 05:37 PM (IST)
गाड़ी रोककर लोगों को पीटने के साथ ही सराफा व्यापारी से लूटपाट की गई। हमले में व्यापारी को चोट पहुंची

प्रयागराज, जेएनएन। कोरोना कर्फ्यू के दौरान भी अपराधी सक्रिय रहे हैं लेकिन इधर कुछ दिन से तो रोज ही प्रयागराज से लेकर प्रतापगढ़ और कौशांबी में सनसनीखेज आपराधिक घटनाएं हो रही हैं। प्रयागराज में सरेशाम व्यापारी से लूट की वारदात के बाद कौशांबी में भी सरेराह गाड़ी रोककर लोगों को पीटने के साथ ही सराफा व्यापारी से लूटपाट की गई। हमले में व्यापारी को चोट भी पहुंची है। पुलिस के आने तक में लुटेरे फरार हो गए थे। घायल व्यापारी अस्पताल में है जबकि लुटेरे अब तक नहीं पकड़े जा सके हैं।

लुटेरों ने लूटा तो पुलिस ने पहुंचाया घर

कोखराज क्षेत्र के गरीब का पुरवा गांव के पास गुरूवार देर रात सवारियों से भरी मैजिक गाड़ी को बोलेरो कार सवार दर्जन भर बदमाशों ने रोक लिया। बदमाशों ने लोहे की राड से पीटकर सवारियों से लूटपाट की। सभी यात्रियों से नकदी और सामान लूटकर अपराधी बोलेरो में भाग निकले। किसी पीड़ित ने 112 डायल पर पुलिस को सूचना दी। कुछ देर बाद पुलिस पहुंची मैजिक गाड़ी सवार लुटे-पिटे लोगों को उनके घर तक पहुंचाया। इस लूटपाट और हमले में टेडीमोड़ निवासी सराफा व्यापारी राम प्रसाद सोनी को गहरी चोट पहुंची है। लुटेरों ने राम प्रसाद से नकदी और सोने-चांदी के आभूषण लूट लिए और विरोध करने पर बेरहमी से पीटा था। परिवार को एक निजी अस्पताल में राम प्रसाद का इलाज करा रहे हैं। व्यापारी के अनुसार लगभग बदमाशों ने तकरीबन दो लाख रुपये के आभूषण लूटे हैं। पुलिस दूसरे रोज भी शाम तक अपराधियों के बारे में पता नहीं लगा सकी।

पत्नी गई मायके तो युवक ने खत्म कर ली जिंदगी

कौशांबी जनपद में ही थाना पइंसा क्षेत्र के ग्राम जगन्नाथपुर में पति-पत्नी के विवाद में 22 साल के संदीप कुमार पुत्र सुंदरलाल ने शुक्रवार दोपहर घर के अंदर फंदे से लटक कर आत्महत्या कर ली। उसकी पत्नी चार रोज पहले अपने दुधमुंह बेटे को लेकर मीना देवी अपने मायके अढोली गांव थाना धाता जनपद फतेहपुर चली गई थी। घर में अकेले संदीप कुमार ही था। पड़ोसियों से खबर पाकर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतारा और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.