ADJ Attack Case: ​​​​​इनोवा चालक और धमकी देने वाले शख्स के बीच कनेक्शन पता कर रही कौशांबी पुलिस

फतेहपुर जनपद के पाक्सो न्यायालय में तैनात अपर जिला जज मोहम्म्द अहमद खान पिछले हफ्ते प्रयागराज गए थे। शाम को वापस फतेहपुर लौटते समय उनकी गाड़ी चाकवन चौराहा के समीप पहुंची तभी पीछे से ओवरटेक कर एक इनोवा गाड़ी ने उनकी कार में टक्कर मार दी थी

Ankur TripathiTue, 03 Aug 2021 06:10 PM (IST)
आरोपित कार ​चालक के मोबाइल नंबर को सर्विलांस से किया जा रहा ट्रेस

कौशांबी, जागरण संवाददाता। कोखराज थाना क्षेत्र के चाकवन चौराहा पर पांच दिन पहले फतेहपुर के एडीजे पाक्सो न्यायालय की गाड़ी में टक्कर मारने के बाद इनोवा चालक के खिलाफ पुलिस ने केस लिखा और फिर यह जांच की जा रही है कि उसका बरेली में जमानत अर्जी मंजूर नहीं करने पर एडीजे को धमकी देने वाले शख्स से क्या ताल्लुक है। एडीजे ने उसी व्यक्ति पर हत्या के प्रयास का आरोप लगाया। कोखराज पुलिस धमकाने वाले शख्स और इनोवा चालक के बीच कनेक्शन पता लगाने में जुटी है। इनोवा चालक के मोबाइल नंबर को सर्विलांस पर लगाकर ट्रेस किया जा रहा है।

साजिश या फिर महज हादसा

फतेहपुर जनपद के पाक्सो न्यायालय में तैनात अपर जिला जज मोहम्म्द अहमद खान पिछले हफ्ते प्रयागराज गए थे। शाम को वापस फतेहपुर लौटते समय उनकी गाड़ी चाकवन चौराहा के समीप पहुंची तभी पीछे से ओवरटेक कर एक इनोवा गाड़ी ने उनकी कार में टक्कर मार दी थी। इस हादसे में एडीजे के गनर को मामूली चोट पहुंची थी जबकि कार क्षतिग्रस्त हो गई थी। गनर ने गाड़ी रोककर फौरन इनोवा कार चालक को पकड़ लिया था। इसके बाद थाने थाने पहुंचकर एडीजे ने इनोवा चालक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा दी। एडीजे ने तहरीर में बरेली जनपद में जमानत खारिज करने पर हत्या की धमकी देने वाले व्यक्ति का भी जिक्र किया। साथ ही इनोवा चालक पर हत्या के प्रयास का भी आरोप लगाया। थानाध्यक्ष ज्ञान सिंह ने इनोवा चालक से पूछताछ की तो उसने कहा कि एडीजे की कार में टक्कर महज दुर्घटना है। क्षतिग्रस्त गाड़ी की मरम्मत कराने के लिए हर्जाना नहीं देने पर उस पर ऐसा आरोप लगाया गया है।

मोबाइल सर्विलांस का भी सहारा

बहरहाल एसपी के निर्देश पर विवेचक जमीर अहमद ने फतेहपुर जाकर एडीजे का बयान दर्ज किया। साथ ही घायल गनर के मेडिकल परीक्षण व क्षतिग्रस्त गाड़ी के टेक्निकल मुआयना के लिए फतेहपुर के एआरटीओ व पुलिस अधीक्षक से पत्र व्यवहार किया। कानूनी प्रक्रिया में कोई कसर न रह जाए, इसके लिए पुलिस अफसरों ने इनोवा चालक व बरेली में जमानत नहीं मिलने पर एडीजे को धमकी देने के आरोपित के बीच रिश्ते खंगाल रही है। सर्विलांस के जरिए इनोवा चालक के मोबाइल नंबर का सीडीआर निकाला जा रहा है।

यह है सीओ का कहना

एडीजे का बयान दर्ज करने के बाद जख्मी गनर का मेडिकल परीक्षण कराने व जज के कार का टेक्निकल मुआयना कराए जाने के लिए फतेहपुर के अधिकारियों से पत्र व्यवहार किया जा चुका है। इसके अलावा इनोवा चालक के मोबाइल नंबर को सर्विलांस के जरिए इसलिए ट्रेस किया जा रहा है कि कहीं उससे जमानत न पाने वो आरोपित के बीच कोई बातचीत तो नहीं हुई।

-योगेंद्र कृष्ण नारायण, सीओ सिराथू

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.