प्रयागराज पुलिस की सक्रियता, घेराबंदी से बाहर नहीं भाग पाए थे आरएसएस के खंड कार्यवाह पर हमले के आरोपित

प्रयागराज पुलिस की सक्रियता के कारण आरएसएस के खंड कार्रवाह को गोली मारने वाले इलाके से भाग नहीं सके थे।

मामले में नामजद पांच आरोपितों में अतीक और अबुल उर्फ जैद को गिरफ्तार करने के बाद तीन अभी फरार हैं। इसमें गुलफाम मासूक व वाजिद अली उर्फ बचऊ शामिल हैं। पुलिस ने अतीक को तो अस्पताल में भर्ती करा दिया जबकि अबुल से पूछताछ की गई।

Publish Date:Sun, 24 Jan 2021 11:49 AM (IST) Author: Brijesh Kumar Srivastava

प्रयागराज, जेएनएन। प्रयागराज के मऊआइमा थाना क्षेत्र के शिवपुर सुल्तानपुर खास गांव के समीप शुक्रवार भोर में आरएसएस के खंड कार्यवाह दिनेश मौर्य को गोली मारने के मामले में नामजद आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने पहले ही दिन से नाकेबंदी कर दी थी। मुखबिरों का जाल भी बिछा दिया था, जिस कारण आरोपित मऊआइमा क्षेत्र से बाहर निकलने में विफल रहे। शनिवार रात दो आरोपितों ने बाहर भागने की कोशिश की तो पुलिस से मुठभेड़ हो गई और फिर दो को गिरफ्तार कर लिया गया। 

पुलिस को ललकराते हुए शुरू कर दी फायरिंग

गिरफ्तार बदमाशों में अतीक काफी शातिर है। गदाई पुल पर क्राइम ब्रांच और मऊआइमा पुलिस ने उसे और उसके साथी अबुल उर्फ जैद को रोकने की कोशिश की तो अतीक ने ललकराते हुए अबुल से फायरिंग करने को कहा। चलती बाइक से ही पुलिस पर दोनों ने फायरिंग शुरू कर दी। संयोग ही था कि गोली किसी पुलिसकर्मी को नहीं लगी और जवाबी फायरिंग में अतीक घायल हो गया। साथी को गोली लगने पर अबुल घबरा गया और दोनों हाथ उठाकर तेज आवाज में चिल्लाने हुए आत्मसमर्पण कर दिया। 

तीन और आरोपितों के बारे में मिली अहम जानकारी

मामले में नामजद पांच आरोपितों में अतीक और अबुल उर्फ जैद को गिरफ्तार करने के बाद तीन अभी फरार हैं। इसमें गुलफाम, मासूक व वाजिद अली उर्फ बचऊ शामिल हैं। पुलिस ने अतीक को तो अस्पताल में भर्ती करा दिया, जबकि अबुल से पूछताछ की गई। उसने फरार तीनों आरोपितों के बारे में अहम जानकारी दी। उनके ठिकानों के बारे में बताया, जिस पर शनिवार देर रात कई जगह दबिश दी गई। हालांकि, कोई आरोपित हाथ नहीं लगा। पुलिस का कहना है कि जल्द ही सभी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 

कैसे हुई थी घटना

मऊआइमा थाना क्षेत्र के मरखामऊ गांव निवासी दिनेश मौर्य रोडवेज में संविदा पर परिचालक हैं। साथ ही वह आरएसएस के खंड कार्यवाह भी हैं। शुक्रवार को भोर में ड्यूटी से वापस घर जाते समय शिवपुर सुल्तानपुर खास गांव के समीप पुरानी खुन्नस को लेकर बदमाशों ने उनके सिर में गोली मार दी थी। उनके भाई राकेश मौर्य ने अबुल उर्फ जैद, गुलफाम, अतीक, मासूक व सुल्तानपुर खास गांव के पूर्व प्रधान वाजिद अली उर्फ बचऊ के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.