युवा दिवस पर डीएस में आमने-सामने आए युवा Aligarh News

डीएस काॅलेज में छात्रों को समझाते प्राचार्य डॉ हेमप्रकाश।

डीएस डिग्री कालेज में राष्ट्रीय युवा दिवस कार्यक्रम मनाने व स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के फेर में छात्र ही आमने-सामने आ गए। दोनों संगठनों के कार्यकर्ताओं के बीच तीखी नोकझोंक भी हुई। छात्रों को प्राचार्य डॉ हेमप्रकाश ने समझाया।

Publish Date:Wed, 13 Jan 2021 09:18 AM (IST) Author: Sandeep kumar Saxena

अलीगढ़, जेएनएन। डीएस डिग्री कालेज में मंगलवार को राष्ट्रीय युवा दिवस कार्यक्रम मनाने व स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के फेर में युवा छात्र ही आमने-सामने आ गए। दोनों संगठनों के कार्यकर्ताओं के बीच तीखी नोकझोंक भी हुई। पुलिस आई तो मामला शांत हुआ। इस दौरान विधि के छात्र के साथ मारपीट होने की सुगबुगाहट भी होती रही।
झंडे निकालने पर हुआ विवाद
मंगलवार को स्वामी विवेकानंद का जन्मदिन मनाने के लिए प्राचार्य डा. हेमप्रकाश की ओर से कार्यक्रम किया जा रहा था। तभी एबीवीपी कार्यकर्ता भी माल्यार्पण करने की अनुमति लेने आए। कालेज के कार्यक्रम के बाद उनको अपने कार्यक्रम की अनुमति मिली। तभी वहां सपा छात्रसभा के कार्यकर्ता भी आ गए। उनके साथ पूर्व विधायक राकेश व पूर्व सांसद चौधरी बिजेंद्र सिंह भी आए। कुछ कार्यकर्ताओं ने पार्टी के झंडे भी निकाल लिए। इस पर कालेज प्रशासन ने उनको रोका। अब एबीवीपी ने आरोप लगा दिए कि कालेज में राजनीति का अड्डा बनाया जा रहा है। इनके खिलाफ एफआइआर कराने की मांग प्राचार्य से कर दी। धरना भी दिया और बाहरी तत्वों को कालेज में प्रवेश पर आपत्ति जताई।
विधि के छात्र के साथ मारपीट
विधि की कक्षा संचालन के दौरान दो छात्रों में आपसी नोकझोंक को लेकर मारपीट हो गई। हवा फैल गई कि एक संगठन का पक्ष लेने पर दूसरे संगठन ने मारपीट कर दी। मगर चीफ प्राक्टर डा. मुकेश भारद्वाज ने बताया कि लड़ाई कक्षा में हुई, इसका दो छात्र संगठनों से कोई लेना देना नहीं है। मारपीट करने वाले दोनों छात्रों को चिह्नित किया गया है, उन पर कार्रवाई होगी।
इनका कहना है
प्राचार्य डा. हेमप्रकाश ने कहा कि सपा छात्रसभा के कार्यकर्ता व जनप्रतिनिधि आए थे, स्वामी विवेकानंद काे श्रद्धासुमन अर्पित करने से किसी को मना करना उचित नहीं। पार्टी के झंडे निकालना गलत था, इस पर उनको रोका गया। दोनों जनप्रतिनिधियों ने खुद कहा कि अगर उनके आने से कोई अव्यवस्था हुई तो उसके लिए क्षमा चाहते हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.