गेहूं चोरी के शक में युवक को पीट-पीट कर मार डाला

हरदुआगंज थाना क्षेत्र की नगर पंचायत जलाली के माजरा नगलिया भूड़ में बुधवार की रात गेहूं भरी बोरी चुराने के शक में अनुसूचित जाति के युवक को पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया।

JagranFri, 23 Jul 2021 01:05 AM (IST)
गेहूं चोरी के शक में युवक को पीट-पीट कर मार डाला

अलीगढ़ : हरदुआगंज थाना क्षेत्र की नगर पंचायत जलाली के माजरा नगलिया भूड़ में बुधवार की रात गेहूं भरी बोरी चुराने के शक में अनुसूचित जाति के युवक को पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया। इस मामले में मृतक के भाई की तहरीर पर पिता व दो पुत्रों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया है। नामजद फरार हैं। पुलिस आरोपितों की तलाश में जुटी है।

कस्बा जलाली के माजरा नगरिया भूड़ निवासी प्रेम किशोर पुत्र रामपाल सिंह ने बताया कि उसका भाई रविंद्र 22 वर्ष गांव में परचून की दुकान चलाता था। बुधवार शाम को वह सामान लेने कस्बा जलाली गया था। परिजनों के अनुसार वहां से करीब साढ़े आठ बजे लौटते वक्त गांव के राजबहादुर व उनके पुत्र अनुराग सिंह सिब्बू ने रविंद्र को पकड़ कर लाठी डंडों से पीटा और गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। पिटाई का कारण राजबहादुर सिंह के घर से एक बोरी गेहूं चोरी हो गया था, जिसे चुराने का शक रविद्र पर था। हत्या की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेजते हुए देररात आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। रविंद्र की तीन माह पूर्व अलीगढ़ के खैर अड्डा निवासी सोनिया से शादी हुई थी। उसकी हत्या से जहां परिवार में कोहराम मचा है वहीं वारदात के बाद गांव में भी तनावपूर्ण शांति है। एसओ रामवकील सिंह ने बताया कि पुलिस को शव मृतक की दुकान के बाहर ही मिला था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर मौत की सही वजह पता चल पाएगी। नामजदों की तलाश में पुलिस टीम जुटी हुई है।

आरोपितों की गिरफ्तारी व मुआवजे की मांग को लेकर जमकर हंगामा

संसू, हरदुआगंज : नगरिया भूड़ में अनुसूचित जाति के युवक की पीटकर हत्या से ग्रामीणों में व्याप्त गुस्सा की खबर पर गांव पहुंचे बसपा नेता तिलकराज यादव व भीमआर्मी के कार्यकर्ताओं का जमकर गुस्सा फूटा। इधर, पोस्टमार्टम के बाद गांव में शव पहुंचते ही एसडीएम कोल व सीओ अतरौली सुदेश गुप्ता की मौजूदगी में 25 लाख रुपये मुआवजा व नामजदों की गिरफ्तारी की मांग होने लगी। वहीं पुलिस की कार्य प्रणाली पर भी लोगों में गुस्सा था।

एसडीएम ने उन्हें मुआवजे का भरोसा दिया तो ग्रामीण तुरंत मुआवजा देने की मांग पर अड़े रहे। इसके बाद बसपा नेता तिलकराज यादव की ओर से आश्वासन मिलने पर स्वजन दाह संस्कार को राजी हुए।

दुकान पर आए थे गेहूं बेचने

रविद्र के भाई प्रेमकिशोर का कहना था कि गांव के राजू, छविराम व ललित शर्मा व करूआ ने गेहूं की बोरी चुराई थी। इसके बाद रविद्र के पास गेहूं बेचने आए थे। जबकि दबंगों ने चोरों की बजाय निर्दोष रविद्र को पीटकर मार डाला। इसका जिक्र प्रेम किशोर ने मुकदमे में भी किया है।

मरघट में जलभराव

देख भड़के लोग

एसडीएम कोल, सीओ अतरौली व पुलिस की मौजूदगी में रवेंद्र के शव को लेकर परिजन जलाली के श्मशानघाट पर पहुंचे, जहां जलभराव देख शव को रखकर धरने पर बैठ गए। वहीं काफी समझाने के बाद खेतों पर दाहसंस्कार हो सका। घटना के बाद से गांव में तनावपूर्ण शांति है।

मेहंदी छूटने से पहले उजड़ी मांग

प्रेमपाल सिंह जाटव के चार बच्चों (तीन बेटे व एक बेटी) में रविद्र सबसे छोटा था, जिसकी तीन माह पहले ही अलीगढ़ के खैर अड्डा निवासी सोनिया के साथ शादी हुई थी। अभी सोनिया के हाथों की मेहंदी भी नहीं छूटी थी मांग का सिदूर उजड़ गया।

लक्ष्मी से लिपट कर रोई सोनिया

गांव नगलिया भूड़ में अनुसूचित जाति के युवक की पीट-पीट कर हत्या की खबर अलीगढ़ की पूर्व लोकसभा प्रत्याशी एवं वरिष्ठ सपा नेत्री लक्ष्मी धनगर गांव पहुंचीं। इसी बीच मृतक की पत्नी सोनिया उनसे लिपटकर खूब रोई। जिसे देख वहां मौजूद लोगों की आंखों में आंसू आ गए। लक्ष्मी धनगर ने मृतक के परिजनों को न्याय दिलाने का भरोसा दिया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.