Prime Ministers Village Road Scheme : वाह रे विभाग, कहीं की सड़क, कहीं बना दी Aligarh news

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के सड़क निर्माण में एक बड़ी लापरवाही का पर्दाफाश हुआ है। गंगीरी क्षेत्र में विधायक व सांसद ने जिस सड़क के निर्माण की स्वीकृति कराई थी विभाग ने उस पर काम शुरू न करकर दूसरी जगह पर निर्माण कार्य शुरू कर डाला।

Anil KushwahaTue, 28 Sep 2021 08:06 AM (IST)
प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत वित्तीय वर्ष 2021-22 में जिले में कुल 13 नई सड़कें स्वीकृत हुई हैं।

सुरजीत पुंढीर, अलीगढ़ । सुनने में भले थोड़ा अटपटा लगे, लेकिन है यह सच। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के सड़क निर्माण में एक बड़ी लापरवाही का पर्दाफाश हुआ है। गंगीरी क्षेत्र में विधायक व सांसद ने जिस सड़क के निर्माण की स्वीकृति कराई थी, विभाग ने उस पर काम शुरू न करकर दूसरी जगह पर निर्माण कार्य शुरू कर डाला। जबकि, कागजों से लेकर शिलान्यास बोर्ड तक में उसी स्वीकृत सड़क का नाम लिखा हुआ है। अब छर्रा विधायक रवेंद्र पाल सिंह व क्षेत्रीय जनता की आपत्ति पर विभाग ने निर्माण कार्य पर रोक लगा दी गई है। वहीं, डीएम के आदेश पर नक्शे का संशोधित प्रस्ताव शासन में भेजा गया है।

प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत 13 नई सड़कें स्‍वीकृत

प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत वित्तीय वर्ष 2021-22 में जिले में कुल 13 नई सड़कें स्वीकृत हुई हैं। इनमें गंगीरी क्षेत्र की गंगीरी निकट धर्मकांटा से नगला हिमाचल वाया रतरेाई की सड़क भी शामिल है। हाथरस सांसद राजवीर दिलेर व छर्रा विधायक रवेंद्र पाल सिंह ने क्षेत्रीय जनता की मांग पर इसका प्रस्ताव दिया था। पिछले दिनों सीएम योगी आदित्यनाथ ने वर्चुली लखनऊ से इस सड़क के निर्माण कार्य का शुभारंभ किया था। ग्रामीण अभियंत्रण विभाग को निर्माण कार्य की जिम्मेदारी मिली है। कुल सड़क की लंबाई 6.10 किमी व लागत 3.97 करोड़ रुपये है।

निर्माण पर लगी रोक

पिछले दिनों ग्रामीण अभियंत्रण विभाग ने इस सड़क पर निर्माण कार्य शुरू कर दिया हैं, लेकिन स्वीकृति व शिलान्यास बोर्ड में जिस जगह से निर्माण कार्य शुरू दिखाया गया है, वहां से काम न करके दूसरी सड़क हुसेपुर देहमाफी से रतरोई वाया बूढ़ागांव पर काम शुरू कर दिया। क्षेत्रीय लोगों ने क्षेत्रीय विधायक रवेंद्र पाल सिंह से इसकी आपत्ति की। उनका तर्क था कि जब स्वीकृति में गंगीरी निकट धर्मकांटे से सड़क का निर्माण शुरू दिखाया गया है तो दूसरी सड़क पर कार्य क्यों हो रहा है। क्षेत्रीय विधायक ने डीएम सेल्वा कुमारी जे के संज्ञान में पूरा मामला डाला। इस पर अब निर्माण कार्य पर रोक लगा दी गई है।

संशोधित प्रस्ताव हुआ तैयार

विभाग की जानकारों के मुताबिक सड़क की जियो टैगिंग में यह चूक हुई है। जहां से जियो टैग होनी चाहिए थी, वहां से न होकर दूसरी जगह से कर दी गई। अब डीएम के आदेश पर संशोधित जियाे टैगिंग की गई है। इसका प्रस्ताव यूपीआरआरडीए को भेजा गया है। वहां से एनआईआरडीए को भेजा जाएगा। यहां से अंतिम मुहर लगने के बाद निर्माण कार्य शुरू होगा।

इनका कहना है

आनलाइन मैपिंग में यह चूक हुई थी। अब संशोधित नक्शे के लिए यूपीआरआरडीए को प्रस्ताव भेज दिया गया है। वहां से इसे अंतिम मुहर के लिए एनआइआरडीए को भेजा जाएगा। इसके बाद प्रस्ताव के आधार पर ही सड़क निर्माण की शुरुआत होगी। फिलहाल काम पर रोक लगा दी गई है।

मदनलाल वर्मा, अधिशासी अभियंता, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना

--

मैंने जिस सड़क का प्रस्ताव दिया था, विभाग ने उस पर काम न करके दूसरी सड़क पर काम शुरू कर दिया। विभाग की यह घोर लापरवाही है। अब नए सिरे से प्रस्ताव के आधार पर ही गंगीरी निकट धर्मकांटा से नगला हिमाचल वाया रतरोई की सड़क बनाई जाएगी। वहीं, जिम्मेदार अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की लिए भी उच्च अफसरों को पत्र भेजा जाएगा। विभाग के इस कृत्य से मेरी व सरकार की छवि पर विपरीत असर पड़ा है। इसके लिए क्षेत्रीय लोगों को बमुश्किल समझाया गया है।

- रवेंद्र पाल सिंह, छर्रा विधायक

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.