Big success : गरीबों के बच्‍चों को चुराकर लाखों में बेचते थे, पुलिस ने 16 लोगों को दबोचा, पांच बच्‍चे बरामद Aligarh news

अलीगढ़ पुलिस ने सोमवार को बड़ी कार्रवाई की है। बच्चा चोरी करने वाले अंतरजनपदीय गिरोह का पर्दाफाश करते हुए 16 आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इनमें बच्चा चोरी करने वाले मध्यस्थ और खरीदने वाले लोग शामिल हैं। नौ महिलाएं भी हैं।

Anil KushwahaMon, 26 Jul 2021 01:02 PM (IST)
अलीगढ पुलिस ने बच्चा चोरी करने वाले अंतरजनपदीय गिरोह का पर्दाफाश करते हुए 16 आरोपितों को गिरफ्तार किया है।

अलीगढ़, जेएनएन । अलीगढ़ पुलिस ने सोमवार को बड़ी कार्रवाई की है। बच्चा चोरी करने वाले अंतरजनपदीय गिरोह का पर्दाफाश करते हुए 16 आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इनमें बच्चा चोरी करने वाले, मध्यस्थ और खरीदने वाले लोग शामिल हैं। नौ महिलाएं भी हैं। आरोपित झुग्गी-झोंपड़ी में रहने वाले बच्चों को निशाना बनाते थे और लाखों की कीमत से बेच देते थे। यह गिरोह अलीगढ़ के अलावा गाजियाबाद व हाथरस में भी घटनाओ को अंजाम दे चुका है। पुलिस ने पांच बच्चों को सकुशल बरामद कर लिया। एसएसपी ने सफलता पर टीम को 25 हजार रुपये के इनाम की घोषणा की है।

आपरेशन खुशी के तहत गठित हुई थी टीम

22 जून को थाना महुआखेड़ा क्षेत्र के सरोज नगर से राजा की दो साल की बेटी शिवानी गायब हो गई थी। राजा का परिवार सड़क किनारे झुग्गी में रहता है। वहीं जून और अप्रैल में गांधीपार्क थाना क्षेत्र से इसी तरह के परिवार के दो बच्चे चोरी हुए थे। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बच्चों की तलाश के लिए आपरेशन खुशी के तहत टीमें गठित की गईं थीं। इसमें एसपी सिटी की क्राइम टीम, थाना महुआखेड़ा की पुलिस टीम व एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट के साथ सर्विलांस टीम भी शामिल थी। सीसीटीवी और मुखबिरों की मदद से पुलिस को अहम सुराग मिले थे। इसी बीच रविवार शाम को पुलिस को जानकारी मिली कि बाइक सवार तीन लोग बच्चा चोरी करने के लिए आ रहे हैं। इस पर महुआखेड़ा थाना प्रभारी विनोद कुमार व गांधीपार्क थाना प्रभारी हरिभान सिंह राठौड़ की टीम ने बोरना तिराहे से तीनों को घेरकर पकड़ लिया। इनके नाम गंगा नगर निवासी दुर्योधन, गाजियाबाद के साहिबाबाद के सेक्टर पांच निवासी अनिल व हाथरस के हसायन निवासी शुभम हैं। दुर्योधन मूलरूप से एटा के थाना भिरज के ग्राम अनारपुर, जबकि अनिल मध्यप्रदेश के सागर जिले के मोहल्ला बजरिया गडरिया का रहने वाला है। पूछताछ में पता चला कि तीनों बच्चा चोरी करने वाले गिरोह के सरगना हैं। आरोपितों की निशानदेही पर पुलिस ने गंगानगर कालोनी निवासी बबली के घर से दो बच्चे, बाबा कालोनी निवासी आकाश के घर से एक बच्चा, खैर के संजय गोयल के घर से एक बच्चा व देहलीगेट के जाहिद के घर से भी एक बच्चे को बरामद किया। इसके अलावा आरोपितों के बताए स्थान से गिरोह में शामिल अन्य आरोपितों को भी दबोचा गया।

पकड़े गए आरोपित

पुलिस ने गंगानगर निवासी धर्मवीर उर्फ धोनी, टीचर्स कालोनी निवासी आकाश, खैर निवासी संजय गोयल, गंगानगर निवासी बबली, रश्मी, अनीता, हरदुआगंज के अहीरपाड़ा निवासी नेहा, गभाना के रामपुर निवासी चांदनी उर्फ राजकुमारी, हरदुआगंज के जहांगीराबाद निवासी रेखा, जीवनगढ़ निवासी गुलफ्शा उर्फ गुल्लू, हाथीपुल निवासी जाहिद, रसलगंज निवासी रुकसार व शाहजमाल निवासी हाजरा को भी गिरफ्तार किया है।

गाजियाबाद से चोरी किए थे दो बच्चे

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि दो बच्चे गाजियाबाद से चोरी किए गए। इनमें फरवरी में थाना विजयनगर से, जबकि मार्च में थाना साहिबाबाद से चोरी हुई थी। इधर, दो बच्चे गांधीपार्क थाना, जबकि एक बच्चा महुआखेड़ा थाना क्षेत्र से चोरी हुआ था। एसएसपी ने बताया कि दुर्योधन, अनिल व शुभम बच्चों को चोरी करते थे। इसके बाद महिलाएं बच्चों को अपने पास रखती थीं। महिलाएं मध्यस्थ की भूमिका निभाती थीं। इसके बाद किसी परिवार से संपर्क करके दो से पांच लाख रुपये में बच्चा बेच दिया जाता था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.