Uproar in Aligarh: शहर की शांत फिजा में जहर घोलने का प्रयास

बड़ा बाजार में दही वाली गली के पास जहां ई-रिक्शा और स्कूटर टकराने पर विवाद हुआ । 2006 में भी दही वाली गली से ही विवाद की शुरुआत हुई थी। जिसने दंगे का रूप ले लिया और कई लोगों की जान चली गई।

Sandeep Kumar SaxenaFri, 18 Jun 2021 09:07 AM (IST)
बड़ा बाजार में दही वाली गली के पास जहां ई-रिक्शा और स्कूटर टकराने पर विवाद हुआ।

अलीगढ़, जेएनएन। रिक्शा चालक के गायब होने के बाद ऊपर कोट पर जिस तरह के हालात पैदा हुए वो शहर की शांत फिजा के लिए कतई उचित नहीं थे। पूरे शहर में अफवाह फैला दी कि रिक्शा चालक को गायब कर दिया है? उसकी हत्या कर दी है। इसके चलते ही लोग एक-दूसरे से पूछते रहे कि क्या हो गया है? शहर के लिए सबसे बड़ी बात ये रही ई-रिक्शा चालक मिल गया। अगर वो नहीं मिलता शुक्रवार का दिन पुलिस के लिए टेंशन भरा हो सकता था। इसी को देखते हुए पुलिस ने तैयारी भी कर ली थी।

ऐसे हुआ था विवाद

बड़ा बाजार में दही वाली गली के पास जहां ई-रिक्शा और स्कूटर टकराने पर विवाद हुआ । 2006 में भी दही वाली गली से ही विवाद की शुरुआत हुई थी। जिसने दंगे का रूप ले लिया और कई लोगों की जान चली गई। शहर को कई महीने कफ्र्यू का सामना करना पड़ा था। गुरुवार को पैदा हुए हालत कतई ठीक नहीं थे। ऊपर कोट से भीड़ के नीचे आना और भाजपाइयों का सब्जी मंडी चौराहे पर पर एकत्रति होना। ऐसा बहुत कम होता है। इसके बाद भी पुलिस ने माहौल को काबू में किया। माहौल काे देखते हुए ही पुलिस प्रशासन ने ई-रिक्शा चालक सद्दाम को तलाशने में एड़ी चोटी का जोर लगा दिया था। अफसर इस विवाद को रात में ही खत्म करना चाहते थे। इसे देखते हुए ही देररात पीएसी बुला ली थी। वहीं शुक्रवार को जुमे के चलते रात में ही आरएएफ बुलाने की भी तैयारी कर ली गई थी।

टकराव के हालात देख भाजपाइयों को भेजा देहली गेट

 सब्जी मंडी पर थे भाजपाई, ऊपर कोट से नीचे आ रही थी भीड़

अलीगढ़ : रिक्शा चालक के गायब होने के बाद तरह-तरह की अफवाह फैल गईं। उसकी हत्या करने तक की लोग बात करने लगे। इससे माहौल गरमाता चला गया। ऊपर कोर्ट पर एकत्रित हुई भीड़ धीरे-धीरे अब्दुल करीम चौराहे की ओर बढ़ने लगी। उधर पूर्व मेयर शकुंतला भारती, मानव महाजन, महानगर अध्यक्ष डा. विवेक सारस्वत, डा. राजीव अग्रवाल, मोनू अग्रवाल आदि भी सब्जी मंडी चौराहे पर पहुंच गए। दोनों पक्षों में कहीं टकराव न हो जाए इसे देखते हुए प्रशासन ने सूझबूझ से काम किया। पूर्व मेयर शकुंतला भारती, मानव महाजन, डा. राजीव अग्रवाल समेत तमाम भाजपाइयों को देहली गेट थाने भिजवा दिया। वहीं लड़की पक्ष की ओर से तहरीर ली गई।

अफवाह ने उड़ाए होश

देर शाम सद्दाम के स्वजन को प्रकरण की जानकारी मिली। वे उसे तलाशते हुए जिला अस्पताल पहुंचे। जहां उन्हें सद्दाम नहीं मिला। किसी ने सद्दाम के इलाज के दौरान मरने की झूठी अफवाह फैला दी। इसको लेकर स्वजन विलाप करने के साथ ही हंगामा करने लगे। तमाम नेता भी कोतवाली पहुंच गए। ई-रिक्शा चालक को तलाशने की मांग के साथ ही मारपीट करने वालों पर मुकदमा दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी की मांग पर अड़ गए। आरोप था कि सद्दाम को मार दिया गया है। पुलिस ने शिकायत के घंटों बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की है।

लोनी बोर्डर की तरह माहौल खराब करने का प्रयास

सब्जी मंडी चौराहे पर पहुंचे भाजपा नेताओं ने आरोप लगाया कि गाजियाबाद के लोनी बार्डर की तरह ही यहां भी कुछ लोगों ने माहौल खराब करने की खातिर ई-रिक्शा चालक को गायब कर दिया है। ये लोग माहौल खराब करना चाहते थे।

चालक की तलाश में जुटी कई टीमें

लापता चालक सद्दाम की तलाश में एसएसपी कलानिधि नैथानी के निर्देश पर पुलिस की तीन टीमें गठित कर दी। देर रात तक सद्दाम की तलाश में रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड के अलावा विभिन्न अस्पतालों आदि स्थानों पर तलाश होती रही। एसएसपी ने शहरवासियों से किसी भी अफवाह पर ध्यान न देने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि ऐसा करने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा।

आठ घंटे बाद बेसुध मिला सद्दाम

जिस ई-रिक्शा चालक के गायब हो जाने से दही वाली गली, अब्दुल करीम चौराहे से लेकर सब्जी मंडी और ऊपरकोट तक घंटों हंगामा चलता रहा वह पुलिस को रात करीब साढ़े बारह बजे कबर कुत्ता तिराहे के पास नशे की हालत में बेसुध पड़ा मिला। पुलिस को जब सद्दाम मिला तो उसने राहत की सांस ली। फिर जिला अस्पताल में उसका डाक्टरी परीक्षण व उपचार कराया गया । देर रात पुलिस अधिकारी उससे पूरे घटनाक्रम की जानकारी लेने में जुटे हुए थे।

एसपी सिटी ने बंधाया ढांढस

तीन घंटे पुलिस की तलाश के दौरान सबसे बड़ी समस्या ये आई कि सद्दाम के पास मोबाइल नहीं था। सद्दाम की बहन रुबीना व पत्नी ने एसपी सिटी के समक्ष गुहार लगाई। बताया कि सद्दाम के पहले भी दो मोबाइल गुम हो चुके हैं। फिलहाल उसके पास मोबाइल नहीं है। एसपी सिटी और एडीएम सिटी ने स्वजन को ढांढस भी बंधाया।

अफवाह फैलाने वालों पर होगी कार्रवाई

सद्दाम को तलाशने के दौरान तरह-तरह की अफवाह फैलाई जा रही थीं। इसे लेकर एसएसपी कलानिधि नैथानी ने स्पष्ट कहा है कि किसी भी तरह की अफवाह फैलाने वालों पर भी कार्रवाई की जाएगी।

ई- रिक्शा से स्कूटी टकराने को लेकर विवाद की बात सामने आई थी। इसमें दोनों पक्षों ने तहरीर दी। पूरे प्रकरण की गहनता से जांच की जा रही है। गायब रिक्शा चालक सद्दाम देर रात नशे की हालत में मिला है। अभी उससे पूछताछ जारी है।

- कलानिधि नैथानी, एसएसपी

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.