UP Board Exam 2021 : परीक्षा केंद्र के आस-पास अपनों की हरकत दर्ज करवा देगी मुकदमा, बनी नई व्यवस्था Aligarh News

यूपी बोर्ड परीक्षा 2021 में इस बार जिले में 169 परीक्षा केंद्र प्रस्तावित किए गए हैं।

यूपी बोर्ड परीक्षा 2021 में इस बार जिले में 169 परीक्षा केंद्र प्रस्तावित किए गए हैं। अभी बोर्ड की ओर से फाइनल सूची जारी करनी बाकी है। मगर परीक्षा को नकलविहीन बनाने की कवायद में एक नई व्यवस्था भी बनाई गई है।

Sandeep kumar SaxenaSun, 28 Feb 2021 09:41 AM (IST)

अलीगढ़, जेएनएन। यूपी बोर्ड परीक्षा 2021 में इस बार जिले में 169 परीक्षा केंद्र प्रस्तावित किए गए हैं। अभी बोर्ड की ओर से फाइनल सूची जारी करनी बाकी है। मगर परीक्षा को नकलविहीन बनाने की कवायद में एक नई व्यवस्था भी बनाई गई है। पूर्व की परीक्षाओं में अलीगढ़ समेत अन्य जिलों में केंद्रों के बाहर की हलचल की दास्तान पुरानी है। अब इस पर नकेल लगाने के लिए बोर्ड व जिले स्तर पर अधिकारियों ने कमर कस ली है। अब सीधे मुकदमा दर्ज कराने की कार्रवाई भी अफसरों की अोर से की जाएगी। पक्ष रखने या स्पष्टीकरण देने का मौका बाद में दिया जाएगा।

ऐसे होगा मुकदमा दर्ज

यूपी बोर्ड परीक्षा के दौरान केंद्र व्यवस्थापक व कालेज प्रबंधक के रिश्तेदार अगर वहां तैनात हैं तो उनको परीक्षा केंद्र से दूर रखा जाता है। मगर पूर्व की परीक्षाओं में अफसरों के सामने निरीक्षण में इसका उल्लंघन भी होता मिला है। इस पर उनको तत्काल कालेज से बाहर भी किया गया। मगर अब कालेज में अंदर होना तो दूर कालेज के 50 मीटर के दायरे में भी अगर कोई अपना किसी हलचल में शामिल दिखा तो उसके खिलाफ सीधे मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। परीक्षा केंद्रों के मुख्य गेट पर भी सीसी टीवी कैमरे लगाने की व्यवस्था बनाई जा चुकी है। जिला मुख्यालय नौरंगीलाल राजकीय इंटर कालेज में बने कंट्रोल रूम से दोनों पालियों के दौरान आनलाइन निगरानी रखी जाएगी। अगर किसी केंद्र व्यवस्थापक या प्रबंधक के रिश्तेदार या ड्यूटी से अलग कालेज स्टाफ केंद्र के आसपास संदिग्ध भूमिका में दिखा तो अफसरों की टीम उनके खिलाफ सीधे एफआइआर दर्ज कराने की तहरीर संबंधित थाने में देंगे।

मुख्य गेट पर सीसी टीवी कैमरा भी

सभी परीक्षा केंद्रों के मुख्य द्वार पर सीसी टीवी कैमरा लगाने की व्यवस्था की गई है। बोर्ड से फाइनल सूची जारी होने के बाद अफसरों की टीमें परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण कर मुख्य गेट पर सीसी टीवी कैमरों की व्यवस्था सुनिश्चित करेगी। अगर कहीं कैमरा नहीं लगा पाया गया तो तत्काल वहां कैमरा लगवाया जाएगा। डीआइओएस डा. धर्मेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि परीक्षा केंद्र के बाहर किसी भी स्थिति में केंद्र व्यवस्थापक या प्रबंधक के रिश्तेदारों या बिना ड्यूटी के स्टाफ का आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। अगर कोई बेवजह केंद्र के आस-पास घूमता पाया गया तो ये मानते हुए कि उनकी संलिप्तता नकल गतिविधियों में है, उन पर मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.