दो मंजिला अवैध शराब बनाने की फैक्ट्री चलती मिली

जहरीली शराब प्रकरण में पुलिस को रिमांड पर लिए गए मदनगोपाल की निशानदेही पर अवैध शराब फैक्ट्री चलती मिली है।

JagranThu, 17 Jun 2021 01:15 AM (IST)
दो मंजिला अवैध शराब बनाने की फैक्ट्री चलती मिली

जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : जहरीली शराब प्रकरण में पुलिस को रिमांड पर लिए गए मदनगोपाल उर्फ कालिया की निशानदेही पर गुरुग्राम में दो मंजिला अवैध शराब बनाने की फैक्ट्री चलती मिली है। जहां से पुलिस को भारी मात्रा में शराब व उसे बनाने का सामान, पैकिग व उपकरण बरामद हुए हैं। आरोपित ने पूछताछ में स्वीकारा है कि उसके शराब माफिया ऋषि कुमार, मुनीश कुमार, अनिल चौधरी, विपिन यादव व शिव कुमार से घनिष्ठ संबंध थे। वह शराब के इस कारोबार में पिछले 15 साल से जुड़ा हुआ था और नकली शराब व नकली शराब पैकिग के उत्पाद बनाता था। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि मडराक क्षेत्र में अवैध शराब फैक्ट्री पर छापेमारी के दौरान मदनगोपाल कालिया निवासी फरीदाबाद (हरियाणा) फरार हो गया था। आरोपित पर 25 हजार रुपये का इनाम था। दो दिन पूर्व उसे पकड़ा गया था। बुधवार को उसे तीन दिन के रिमांड पर लिया गया था। आरोपित मदन ने पूछताछ व निशानदेही पर सीओ सिविल लाइन श्वेताब पांडे के पर्यवेक्षण एवं समन्वय में गुरुग्राम हरियाणा के न्यू पालम विहार थाना बझघेड़ा क्षेत्र की भीम कालोनी में छापा मारा। यहां शराब की बोतलें बनाने वाली दो मंजिला फैक्ट्री चलती मिली। यहां से पुलिस टीम को दो ब्लोइंग मशीन, दो ब्लोइंग मशीन स्टार्टर, ब्लोइंग चैन मशीन, कंप्रेशर मशीन व स्टार्टर, बोतल पर सील लगाने वाली मशीन, चेन वाली सिलिग मशीन, 9100 प्रीफोम (मोल्डिग इंजेक्शन), 470 गुड इवनिग ब्रांड के लेवल, 490 मिस इंडिया ब्रांड के लेवल, 2370 क्यूआर कोड,125 पैकेट खाली पौव्वा गुड इवनिग प्रत्येक में 160 व कुल 20,000, 15 पैकेट खाली पौव्वा मिस इंडिया प्रत्येक में 160 कुल 2400, दो फुल ड्रम व दो हाफ ड्रम खाली रंग नीला, जले हुए लेवल, क्यूआर कोड, क्वार्टर की राख व मिट्टी एक बोलेरो पिकअप गाड़ी बरामद हुई है।

दो साल से चल रही थी फैक्ट्री

मदनगोपाल ने दो मंजिला भवन में चल रही अवैध शराब फैक्ट्री को पिछले दो साल से इकरारनामा कराकर अपने कब्जे में ले रखा था। यहां नकली शराब बनाने के साथ-साथ शराब पैकिग के लिए प्लास्टिक के पौव्वा, ढक्कन, रैपर, सील, बार कोड आदि भी बनाए जाते थे। पैकिग मशीन भी मौजूद थी, जिनकी मदद से वेब कंपनी का पूरा नकली माल व उनके पैकिग उत्पाद यहां तैयार होते थे।

हरियाणा में भी देता था सप्लाई

आरोपित मदनगोपाल ने पूछताछ में केमिकल की सप्लाई देने वाले दो नाम उजागर किए हैं। वह उसे हरियाणा में सप्लाई देते थे। कुछ माल अपनी फैक्ट्री में तो कुछ ऋषि कुमार व अनिल चौधरी आदि शराब सिडिकेट को बेचता था। पुलिस अब नाम सामने आने पर आरोपितों की धरपकड़ के प्रयासों में जुट गई है। वहीं, आरोपित मदन के खिलाफ अवैध शराब के कारोबार से जुड़े मुकदमों की लंबी फेहरिश्त है। जिनमें हरियाणा के एनआइटी थाने में छह, मडराक में दो, पिसावा में एक मुकदमा दर्ज है। -------------------- अब तक पकड़ी जा चुकी हैं चार फैक्ट्री

शराब माफिया के खिलाफ चल रही ताबड़तोड़ कार्रवाई के दौरान पुलिस की टीमें अब तक चार शराब फैक्ट्री पकड़ चुकी हैं। इसमें एक फैक्ट्री गैर राज्य हरियाणा में मदन की निशानदेही पर पकड़ी गई है।

जहरीली शराब प्रकरण में शराब माफिया के खिलाफ चल रहा अभियान लगातार जारी है। आगे भी यह अभियान तब तक जारी रहेगा जब तक इस प्रकरण से जुड़े सभी आरोपित नहीं पकड़े जाते।

- कलानिधि नैथानी, एसएसपी ।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.