top menutop menutop menu

Women pelted stones on police:महिलाओं ने पथराव कर शराब तस्‍कर को पुलिस से छुड़ाया, दारोगा समेत दो महिला पुलिस कर्मी घायल Aligarh News

Women pelted stones on police:महिलाओं ने पथराव कर शराब तस्‍कर को पुलिस से छुड़ाया, दारोगा समेत दो महिला पुलिस कर्मी घायल Aligarh News
Publish Date:Fri, 17 Jul 2020 08:38 AM (IST) Author: Sandeep Saxena

अलीगढ़ [जेएनएन] : अलीगढ़ के दादों क्षेत्र के गांव सांकरा में गुरुवार की रात शराब तस्करी के आरोपित को पकडऩे गई पुलिस पर लोगों ने पथराव कर दिया।  महिलाओं ने आरोपित को पुलिस से छुड़ा लिया और पथराव कर दिया। छतों से भी पथराव होने लगा, जिसमें एक दारोगा के सिर में गंभीर चोट आई है। दारोगा अचेत होकर जमीन पर गिर गए। दो महिला सिपाही भी घायल हुईं हैं। बाद में दो थानों का फोर्स पहुंचा, तब तक आरोपित फरार हो गए। 

ऐसे हुई घटना

जिलेभर में वांछित अपराधियों को पकडऩे का अभियान चल रहा है। इसी क्रम में थाना पालीमुकीमपुर से शराब तस्करी के मामले में वांछित जागन पुत्र लाखन उर्फ कड्डे व उसका बेटा संजू निवासी सांकरा को पकडऩे के लिए पाली व दादों पुलिस की टीम रात नौ बजे गांव पहुंची थी। टीम में सांकरा चौकी इंचार्ज नीलेश, एसआइ हरिकेश यादव, दो महिला सिपाही समेत 12-14 पुलिसकर्मी शामिल थे। पुलिस ने आरोपित जागन को पकड़ लिया और गाड़ी में बिठाकर ले जाने लगी। तभी पीछे से जागन के बेटी व बेटे आ गए। 

महिलाओं ने की हाथपाई

महिलाओं ने विरोध शुरू करते हुए हाथापाई कर दी। देखते ही देखते लाठी-डंडों, रॉड से हमला कर दिया। पत्थर भी फेंके और जागन को छुड़ा लिया। पुलिस ने भी महिलाओं को फटकारा, लेकिन तब तक छतों से पथराव शुरू हो गया। भगदड़ मच गई। इसमें दारोगा हरिकेश के सिर में गंभीर चोट आई और वह अचेत होकर गिर गए। महिला सिपाही शिवानी व अनीता के भी पत्थर लगे, जिससे उन्हें गुम चोट आई। घायल दारोगा को पुलिस छर्रा सीएचसी लेकर पहुंची। बाद में पालीमुकीमपुर एसओ व दादों एसओ पुलिस बल के साथ पहुंचे, तब तक सभी आरोपित फरार हो गए। देर रात पुलिस आरोपितों की तलाश कर रही थी। 

दो माह पहले की थी कार्रवाई 

जागन कच्ची शराब बनाकर बेचता है। पालीमुकीमपुर थाने के गांव बबरौतिया भरनैरा में जागन की भ_ी थी, जहां रोजाना 400 लीटर शराब बनती थी। इन्हें अलग-अलग इलाकों में सप्लाई किया जाता था। दो माह पहले पुलिस ने छापा मारकर 250 लीटर शराब पकड़ी थी। दो लोग भी गिरफ्तार हुए, मगर जागन और उसका बेटा संजू भाग निकले। तभी से दोनों वांछित थे। 

पूरा गांव है परेशान 

सांकरा गांव के प्रधान ब्रजेश यादव ने कहा कि जागन का परिवार किसी से मतलब नहीं रखता है। पूरा गांव इससे परेशान है। कुछ लोगों ने जागन की तुलना कानपुर के कुख्यात विकास दुबे से भी कर दी।

आरोपित के परिवार ने पुलिस पर हमला किया

दादों के गांव सांकरा में पुलिस शराब तस्करी में वांछित को पकडऩे गई थी। आरोपित के परिवार ने पुलिस पर हमला कर दिया। इसमें एक एसआइ हरिकेश को चोट लगी है। आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। गांव में पुलिस फोर्स तैनात है। 

प्रशांत सिंह, सीओ, अतरौली 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.