प्रयागराज एक्सप्रेस से लाखों की ज्वेलरी व नकदी उड़ाने वाला सरगना गिरफ्तार

प्रयागराज एक्सप्रेस से करीब तीन माह पूर्व ज्वेलरी व नकदी से भरे बैग को पार करने वाला सरगना गिरफतार किया गया है।

JagranSat, 17 Jul 2021 01:33 AM (IST)
प्रयागराज एक्सप्रेस से लाखों की ज्वेलरी व नकदी उड़ाने वाला सरगना गिरफ्तार

जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : प्रयागराज एक्सप्रेस से करीब तीन माह पूर्व ज्वेलरी व नकदी से भरे बैग को चोरी करने वाले सासी गिरोह के सरगना को जीआरपी-आरपीएफ की टीम ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया। आरोपित के पास से करीब सात लाख कीमत की ज्वेलरी व 25 हजार की नकदी बरामद हुई है।

शुक्रवार को सीओ आगरा/इटावा हरिश्चंद्र ने मीडिया को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि नोएडा के विवेक विहार के सेक्टर 82 निवासी अंकिता मिश्रा गोदरेज कंपनी में कार्यरत हैं। अंकिता के पति अविनाश मिश्रा प्रयागराज हाईकोर्ट में अधिवक्ता हैं। अंकिता मिश्रा 12 अप्रैल को प्रयागराज एक्सप्रेस से गाजियाबाद के लिए सफर कर रहीं थीं। इसी बीच उनका जेवरात से भरा पिट्ठू बैग चोरी हो गया। अंकिता ने गाजियाबाद में मुकदमा दर्ज कराया। सीओ जीआरपी ने बताया कि चोरों की तलाश में सर्विलांस की टीम लगातार सक्रिय थी। जीआरपी व आरपीएफ टीम को शुक्रवार तड़के मीनाक्षी पुल के पास संदिग्धों की लोकेशन मिली। जिस पर घेराबंदी कर जिला रोहतक (हरियाण)के थाना महम के बलहम्वा गांव निवासी मनोज उर्फ मोनू उर्फ राजा को गिरफ्तार कर लिया, जबकि जिला जींद के थाना सहरजींद के बुड्ढा कालोनी निवासी नरेश उर्फ बुड्ढा, थाना व कस्बा वुआनी खेड़ा (भिवानी) के कानी उर्फ प्रदीप, जिला रोहतक के थाना महम के वार्ड संख्या पांच निवासी नीना उर्फ राहुल अंधेरे का फायदा उठाकर भाग गए। आरोपित के कब्जे से अंकिता मिश्रा की सोने की चेन, तीन अंगूठी, लाकेट, डायमंड मंगलसूत्र, टाप्स, पैंडल, एक जेंट्स अंगूठी समेत करीब सात लाख के जेवरात और 24,585 रुपये बरामद हुए। कई थानों में दर्ज हैं आरोपित पर मुकदमे

सीओ ने बताया कि आरोपित के खिलाफ आगरा कैंट, मध्य प्रदेश के कटनी आदि थानों में कई मुकदमे दर्ज हैं। आरोपित सासी गैंग का सरगना है। यह गैंग सुपरफास्ट, एक्सप्रेस ट्रेनों में सवार होकर यात्रियों के बैग, अटैची, ज्वेलरी, नकदी व कीमती सामान चोरी करने का काम करते हैं। ट्रेन के आउटर पर धीमे होने पर उतर कर रोडवेज बस या प्राइवेट वाहनों से अपने घर पहुंच जाते हैं। सीओ ने बताया कि चोरी की इस वारदात का राजफाश करने वाली टीम को एसपी रेलवे के स्तर से पुरस्कृत किया जाएगा।

इंस्पेक्टर हो चुके हैं निलंबित

लाखों के जेवरात से भरे बैग के गायब हो जाने के प्रकरण में अंकिता मिश्रा के अधिवक्ता पति अविनाश मिश्रा ने जीआरपी पर मुकदमे को वापस लेने का दबाव बनाने का आरोप लगाया था। इसकी शिकायत एडीजी जीआरपी सत्येंद्र कुमार से की थी। जिस पर तत्कालीन इंस्पेक्टर यशपाल सिंह को निलंबित कर दिया था। सीओ इटावा को जांच सौंपी थी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.