टप्पल के वायुसेना अधिकारी ने की आत्महत्या, सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

राजस्थान में बीकानेर के वायुसेना क्षेत्र में गुरुवार को टप्पल के जूनियर वारंट आफिसर वेदपाल ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। आत्महत्या करने से पहले उसने एक सुसाइड नोट लिखा है। इसमें विग कमांडर और ग्रुप कैप्टन पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। लिखा है कि दोनों उन्हें गालियां देने के साथ ही अवकाश पर जाने की अनुमति नहीं देते थे।

JagranSat, 27 Nov 2021 01:16 AM (IST)
टप्पल के वायुसेना अधिकारी ने की आत्महत्या, सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

अलीगढ़ : राजस्थान में बीकानेर के वायुसेना क्षेत्र में गुरुवार को टप्पल के जूनियर वारंट आफिसर वेदपाल ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। आत्महत्या करने से पहले उसने एक सुसाइड नोट लिखा है। इसमें विग कमांडर और ग्रुप कैप्टन पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। लिखा है कि दोनों उन्हें गालियां देने के साथ ही अवकाश पर जाने की अनुमति नहीं देते थे। शुक्रवार को वेदपाल का शव टप्पल के उनके गांव पहुंचा, जहां सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। टप्पल क्षेत्र के गांव व कस्बा जट्टारी के निकटवर्ती गांव जलालपुर निवासी वेदपाल सिंह के साथी गुरुवार को जब उनके कमरे पर पहुंचे तो वह फंदे पर लटके हुए मिले। उन्हें बीकानेर शहर के पीबीएम अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस के अनुसार वेदपाल के पास मिले सुसाइड नोट में विग कमांडर एमएस राठौड़ और ग्रुप कैप्टन पीयूष धवन पर परेशान करने का आरोप लगाया गया है। दोनों उसे इस साल अगस्त माह से परेशान कर रहे थे। वह इस साल की शुरुआत में ही दिल्ली से तबादले के बाद बीकानेर आए थे। यहां आने के बाद तीन बार अवकाश के लिए आवेदन किया था, लेकिन दोनों ने उन्हें अवकाश पर जाने की अनुमति नहीं दी थी। दोनों हमेशा गालियां देते थे। सेना और पुलिस की सूचना पर वेदपाल के भाई विशेष चौधरी ने बीकानेर के सदर पुलिस थाने में आनलाइन मामला दर्ज कराया है। इसमें धवन और राठौड़ को भाई की मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया गया है। पत्नी बोली, इस्तीफा तक नहीं किया स्वीकार पोस्टमार्टम के बाद वेदपाल का शव गांव पहुंचा। उनके आठ वर्षीय पुत्र हर्षित ने मुखाग्नि दी। स्क्वाड्रन लीडर अभिषेक के नेतृत्व में एयर फोर्स की 45 जवानों की टुकड़ी ने 21 राइफल से सैनिक सम्मान दिया। वेदपाल सिंह की पत्नी रजनी ने बताया कि वेदपाल फोन पर उच्चाधिकारियों द्वारा प्रताड़ित करने की बातें करते थे। रजनी ने स्वजन को जानकारी दी तो उन्होंने नौकरी छोड़ने की बात कही। इसके बावजूद वेदपाल का इस्तीफा तक स्वीकार नहीं किया गया। विशेषपाल सिंह ने बताया कि उनके बड़े भाई वेदपाल सज्जन, ईमानदार व व्यवहार कुशल व्यक्ति थे। वे लोगों को सामाजिक कार्यों के लिए प्रेरित करते थे। वेदपाल सिंह वर्तमान में बीकानेर (राजस्थान) में जूनियर वारंट आफिसर के पद पर तैनात थे। वेदपाल सिंह की शादी 14 वर्ष पहले पिसावा के गांव बसेरा निवासी रजनी से हुई थी। परिवार में पत्नी के अलावा 10 वर्षीय बेटी जाह्नवी व आठ वर्षीय बेटा हर्षित हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.