अलीगढ़ के सदलपुर में संघर्ष,चले लाठी डंडे और पत्थर, आधा दर्जन घायल

Stone pelting in Aligarh Sadalpur जनपद अलीगढ़ के ब्‍लॉक लोधा के गांव सदलपुर में शनिवार शाम को पहले कुछ लोग लोगों ने शराब ठेके के आसपास शराब पी और गांव में आकर हंगामा किया। मामला इतना बढ़ गया कि पथराव हुआ।

Sandeep Kumar SaxenaSun, 19 Sep 2021 08:43 AM (IST)
गांव सदलपुर में मामला इतना बढ़ गया कि पथराव हुआ।

अलीगढ़, जागरण संवाददाता। जनपद अलीगढ़ के  ब्‍लॉक लोधा के गांव सदलपुर में शनिवार शाम को पहले कुछ लोग लोगों ने शराब ठेके के आसपास शराब पी और गांव में आकर हंगामा किया। मामला इतना बढ़ गया कि पथराव हुआ। इससे गांव के लोगों में खलबली मच गई। सतर्कता बरतते हुए अधिकारियों ने रात में भी फोर्स तैनात कर दिया। 

ऐसे हुआ संघर्ष 

गांव सदलपुर में शनिवार शाम को पहले कुछ लोग लोगों ने शराब ठेके के आसपास शराब पी और गांव में आकर हंगामा किया। एक पक्ष अजय,शैलेंद्र और दूसरा पक्ष सदानंद में पुरानी रंजिश के चलते कहासुनी हो गयी, जिसके चलते विपक्षी अजय ने पनेठी के पास कमालपुर में अपनी ससुराल में फोन कर दिया। मगर देर रात करीब 10 बजे सदानंद अपने दरवाजे के सामने बैठा था और कुछ दूरी पर सदानंद के भाई रवि की पत्नी शकुतंला बैठी थी। तभी अचानक ईको कार रुकी और एक साथ कई लोग उतरे और सदानंद पर हावी हो गये। इसके बाद लगातर डंडे मार होने लगी। शोर शराबा सुनकर अन्य ग्रामीणों ने ईंट बरसायी। तब जाकर आरोपी फरार हुए और जाते जाते कार को छोड़ गये ।झगड़े में कई लोग घायल हो गये। इसकी सूचना कंट्रोलरुम पर दी गयी। सूचना पर तीन एम्बुलेंस एवं थाना लोधा से पुलिस बल पहुंच गया। मौके से कार एवं कार चालक रॉविन निवासी अल्लाद पुर एवं चार अन्य को गिरफ्तार करना बताया गया है। वहीं सभी घायलों को जिला अस्पताल भेजा जहां से डॉक्टरों ने मेडिकल रैफर किया है।

राजमिस्‍त्री ठेकेदार की हत्‍या के मामले में महिला मित्र पर हत्या का शक

राजमिस्त्री नीरज के भतीजे मंजू सिंह व दामाद गोविंद ने आरोप लगाया कि कुंवरनगर इलाके की एक महिला मित्र से पिछले कई सालों से करीबी संबंध थे। इनका महिला मित्र की बेटी व दामाद विरोध करते थे। पिछले दिनों इसको लेकर तीनों में विवाद भी हुआ था। आरोप है कि राजमिस्त्री घर से पैसे लेकर निकले थे। इन्हीं पैसों के लालच में तीनों ने मिलकर नीरज सिंह की पहले गला दबाकर हत्या कर दी। फिर शव को ले जाकर अलीनगर के पास सड़क किनारे फेंक दिया। गले पर दबाने व आंख पर भी चोट के निशान थे। तलाशी के दौरान आरोपित महिला के घर में दो अलग-अलग चप्पलें मिलीं। जिनमें एक चप्पल राजमिस्त्री की थी। जबकि दूसरी चप्पल किसी अन्य की थी। डिस्कवर बाइक भी घटनास्थल पर लावारिस पड़ी हुई मिली। जिसमें कहीं भी खरोंच आदि के निशान नहीं मिले।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.