अलीगढ़ में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की महापंचायत से पहले सपा कार्यकर्ता गांव-गांव कर रहे पंचायत

अलीगढ़ में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की महापंचायत से पहले सपा कार्यकर्ता गांव-गांव कर रहे पंचायत

टप्पल में तीन मार्च को पहुंचेंगे सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष किसानों से संपर्क कर पार्टी की उपलब्धि गिना रहे नेता।

JagranSat, 27 Feb 2021 01:06 AM (IST)

जासं, अलीगढ़ : समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की तीन मार्च को प्रस्तावित महापंचायत की तैयारी में जुटे पार्टीजन गांव-गांव पंचायतें जोड़ रहे हैं। प्रयास यही हैं कि महापंचायत में अधिक से अधिक लोग जुटें। शुक्रवार को भी सपा नेताओं के गांवों में तूफानी दौरे हुए। पार्टी कार्यालय पर भी रणनीति बनाई गई। नेताओं ने कहा कि कार्यकर्ता गांवों में जाकर लोगों से संपर्क करें और महापंचायत में ज्यादा से ज्यादा भीड़ जुटाएं।

क्वार्सी बाईपास स्थित सपा कार्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता में जिलाध्यक्ष गिरीश यादव ने बताया कि दोपहर 12 बजे राष्ट्रीय अध्यक्ष का हेलीकाप्टर उतरेगा। इधर, गांवों में दौरे पर निकले पूर्व सांसद बिजेंद्र सिंह ने कहा कि कृषि बिल विरोधी आंदोलन का सपा समर्थन कर रही है। किसानों की लड़ाई वह पहले भी लड़ते आए हैं। किसानों के हित में लड़ाई जारी रखने के लिए तीन मार्च को राष्ट्रीय अध्यक्ष महापंचायत में शामिल होंगे। इस महापंचायत को सफल बनाने के लिए गांव-गांव जाकर किसानों से संपर्क किया जा रहा है। बड़ी संख्या में किसान पार्टी से जुड़ रहे हैं। पार्टी की नीतियों पर भी किसानों ने सहमति जताई है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार की गलत नीतियों के चलते किसान हर तरह की मुश्किल से जूझ रहा है। महंगाई आम व्यक्ति की कमर तोड़ रही है, युवा रोजगार के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं। दौरे में विशंबर सिंह, जयवीर सिंह, देशमुख नंबरदार, ऋषिपाल सिंह आदि थे। वहीं, पूर्व विधायक जमीरउल्ला खान ने खैर व बरौली विधानसभा क्षेत्र में चंडौस, बरखा, रामपुर, शाहपुर, राइट, सुदेशपुर, विसारा आदि गांवों में जनसंपर्क किया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.