सिर पर टोपी और दाढ़ी देख कब्रिस्‍तान में दफनाया, अब कब्र से निकालकर किया गया अंतिम संस्‍कार, जानिए पूरा मामला

क्वार्सी क्षेत्र के रामघाट-कल्याण मार्ग पर 22 नवंबर को क्वार्सी चौराहे के पास मिले शव की शिनाख्त न होने पर पुलिस ने कब्रिस्तान में सुपुर्द- ए-खाक करा दिया। नौ दिन से तलाश रहे स्वजन मंगलवार को थाने में पहुंचे तो जानकारी हुई।

Anil KushwahaThu, 02 Dec 2021 03:05 PM (IST)
डीएम के आदेश पर मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में शव को कब्रिस्तान से निकाला गया।

अलीगढ़, जागरण संवाददाता। क्वार्सी क्षेत्र के रामघाट-कल्याण मार्ग पर 22 नवंबर को क्वार्सी चौराहे के पास मिले शव की शिनाख्त न होने पर पुलिस ने कब्रिस्तान में सुपुर्द- ए-खाक करा दिया। नौ दिन से तलाश रहे स्वजन मंगलवार को थाने में पहुंचे तो जानकारी हुई। डीएम के आदेश पर मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में शव को कब्रिस्तान से निकाला गया। इसके बाद शव का अंतिम संस्कार करा दिया गया।

22 नवंबर को क्‍वार्सी चौराहे के पास मिला था शव

क्वार्सी क्षेत्र के बेगपुर निवासी 62 वर्षीय ब्रहमजीत सिंह कृषि विभाग में कर्मचारी थे और सेवानिवृत्त हो चुके थे। बेटे गौरव के अनुसार करीब 10 दिन पूर्व पिता घर से घूमने निकले थे। फिर वापस नहीं पहुंचे। 22 नवंबर को क्वार्सी चौराहे के पास उनका शव मिला। पुलिस ने शिनाख्त कराने का प्रयास किया। सफलता न मिली तो हुलिए में सिर पर टोपी व दाढ़ी बड़ी देखकर मानव उपकार संस्था ने नुमाईश मैदान स्थित कब्रिस्तान में शव को अज्ञात के रूप में सुपुर्द- ए- खाक करा दिया। वे पिता की तलाश में जुटे थे। क्वार्सी थाने में फोटो व कपड़ों के हुलिए के आधार पर शव की शिनाख्त कर ली। स्वजन डीएम सेल्वा कुमारी से मिले और शव को कब्रिस्तान से बाहर निकलवाने व अंतिम संस्कार कराने की मांग की। डीएम के आदेश पर एसीएम द्वितीय सुधीर कुमार की मौजूदगी में शाम के वक्त नुमाइश मैदान स्थित कब्रिस्तान से शव को निकाला गया। इसके बाद स्वजन ने शव का विधिवत अंतिम संस्कार कर दिया।

इंटरनेट मीडिया के सीईओ के खिलाफ दी तहरीर

अलीगढ़ । समाजवादी के प्रमुख अखिलेश यादव के खिलाफ इंटरनेट मीडिया की एक साइट पर अभद्र भाषा का प्रयोग करने के मामले में थाना सिविल लाइंस में तहरीर दी गई है। सपा के पूर्व महानगर अध्यक्ष अज्जू इश्हाक ने तहरीर में कहा है कि बिना किसी ठोस सबूत व साक्ष्य के पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष की छवि धूमिल करने का प्रयास किया गया है। जिससे पार्टी के कार्यकर्ताओं में रोष है। सिविल लाइंस के इंस्पेक्टर हरीशंकर वर्मा ने बताया कि मामले में जांच की जा रही है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.